Move to Jagran APP

Ghazipur Triple Murder: आधे घंटे तक अपनों के साथ खेला खूनी खेल, पांच मिनट में टूट गया हत्यारोपित

उत्‍तर प्रदेश के गाजीपुर में तिहरे हत्‍याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। घर के सबसे छोटे ने गांव की ही लड़की से शादी की जिद कर रहा था। घरवालों के मना करने से नाराज होकर मां-बाप और बड़े भाई को मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद पुलिस को गुमराह कर रहा था लेकिन पुलिस ने सख्‍ती दिखाई तो उसने पांच मिनट गुनाह कबूल कर लिया।

By Avinash Singh Edited By: Vivek Shukla Wed, 10 Jul 2024 09:59 AM (IST)
Ghazipur Triple Murder: आधे घंटे तक अपनों के साथ खेला खूनी खेल, पांच मिनट में टूट गया हत्यारोपित
घटना के बाद गांव में तैनात पुलिस। जागरण

संवाद सहयोगी जागरण गाजीपुर। खुद के हाथों अपनी दुनिया उजाड़ने वाला नाबालिग प्रेम और परिवार दोनों से हाथ धो बैठा। अब उसको सलाखों के पीछे जिंदगी भर पछताने के सिवा कुछ नहीं बचा है। जिस मां ने ममता के आंचल की छांव में पाला, जिस पिता ने अंगुली पकड़कर चलना सिखाया, जिस बड़े भाई ने मुसीबत में दीवार बनकर बचाया, उन्हीं के भरोसे का एक नादान ने इश्क में अंधा होकर कत्ल कर दिया। आधे घंटे तक उन्हीं के साथ खूनी खेल खेला, जिसका उसके रगों में बह रहा है।

खिलवा गांव का नाबालिग इश्क में इस कदर अंधा होकर खौफनाक कदम उठा लेगा, यह किसी ने सपने में भी नहीं सोचा था। मां, पिता और भाई को मौत की नींद सुलाकर मन ही मन बच जाने की खुशी पाले हत्यारे बेटे को क्या पता था कि कानून के हाथों वह बच नहीं सकता?

इसे भी पढ़ें- गाजीपुर में ट्रिपल मर्डर से सनसनी, माता-पिता व बेटे की नृशंस हत्या

पुलिस के शिकंजे में आया तो पांच मिनट में ही टूट गया। रोते वक्त पूरी बर्बरता की कहानी पुलिस के सामने बयां कर दी। बातें बताते वक्त निर्दयी के होंठ तो नहीं कांपे, मगर सुनकर पुलिस की रूह जरूर कांप गई। अब तक प्रेमिका और उसके घरवालों को कोसने वाले ग्रामीण नादान हत्यारे की करतूत सामने आने के बाद हैरान हैं। गांव-गांव, घर-बाजार केवल नाबालिग हत्यारे को लेकर चर्चा शुरू हो गई है।

तीन चिताओं को दी आग, हाथ भी नहीं कांपें हत्यारोपित के

चोचकपुर गंगा घाट पर मां, पिता व भाई को मुखाग्नि देते वक्त भी हत्यारोपित बेटे के आंखों में आंसू नहीं दिखा। तीन चिताओं को आग देते वक्त भी वह तनिक नहीं घबराया और ना ही उसके हाथ कांपे। इतनी कम उम्र में तीन चिताओं को आग देते देख ग्रामीण तो रो पड़े मगर उसके चेहरे पर तनिक भी सिकन नहीं था।

इसे भी पढ़ें- प्यार में अंधे किशोर ने की थी मां-पिता व भाई की नृशंस हत्या, पुलिस को कर रहा था गुमराह

खुरपा से ऐसा जघन्य वारदात, हर कोई सोचने को विवश

दंपती और उनके पुत्र के शव को जिसने भी देखा वह यही अंदाजा लगा रहा था कि ऐसा जघन्य वारदात को करने में हत्यारोपित ने किसी बड़े व धारदार हथियार को प्रयाेग किया होगा, क्योंकि तीनों के गले को बेरहमी से काटा गया था।

मौके को देखने से यह भी लग रहा था कि इस ऐसी घटना को कोई अकेले अंजाम नहीं दे सकता है। पुलिस राजफाश में जब लोगों को पता चला कि एक किशोर ने अकेले वह भी खुर्पा से इस घटना कोे अंजाम दिया है तो वह सोचने को विवश हो गए।