Move to Jagran APP

गाजीपुर-चंदौली में अखिलेश की सभा में भगदड़, समर्थक हुए बेकाबू; बैरिकेडिंग तोड़ मंच तक पहुंचने की कोशिश

प्रयागराज जौनपुर व आजमगढ़ के बाद सोमवार को गाजीपुर और चंदौली में भी सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के कार्यक्रम में भीड़ बेकाबू रही। चिलचिलाती धूप और पसीने से तरबतर युवा अखिलेश की झलक पाने के लिए पंडाल के खंभे टंकी व रेलिंग पर चढ़ गए। सुरक्षा व्यवस्था को लगाई गई लोहे की रेलिंग गिरा दी। दर्जनों कुर्सियां तोड़ दीं लेकिन कार्यकर्ताओं का हुजूम देख पुलिस तमाशबीन बनी रही।

By Jagran News Edited By: Abhishek Pandey Tue, 28 May 2024 08:15 AM (IST)
गाजीपुर-चंदौली में अखिलेश की सभा में भगदड़, समर्थक हुए बेकाबू

जागरण संवाददाता, गाजीपुर। प्रयागराज, जौनपुर व आजमगढ़ के बाद सोमवार को गाजीपुर और चंदौली में भी सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के कार्यक्रम में भीड़ बेकाबू रही। चिलचिलाती धूप और पसीने से तरबतर युवा अखिलेश की झलक पाने के लिए पंडाल के खंभे, टंकी व रेलिंग पर चढ़ गए।

सुरक्षा व्यवस्था को लगाई गई लोहे की रेलिंग गिरा दी। दर्जनों कुर्सियां तोड़ दीं, लेकिन कार्यकर्ताओं का हुजूम देख पुलिस तमाशबीन बनी रही। सपा चाहे इस घटनाक्रम को अपने नेता के प्रति दीवानगी कहे पर इस तरह की अराजकता का प्रतिकूल असर भी पड़ रहा है।

दूसरी पार्टी के कार्यक्रमों में अनुशासित कार्यकर्ताओं से लोग सपा कार्यकर्ताओं के व्यवहार की तुलना कर रहे हैं। उत्पन्न स्थिति को कोस रहे हैं। गाजीपुर में अखिलेश के आते ही उत्साही युवाओं ने नारेबाजी शुरू कर दी। इस बीच सीने पर अखिलेश का टैटू बनवाए एक युवा के साथ दर्जनभर से अधिक कार्यकर्ता मंच की ओर बढ़ने लगे।

हालांकि बैरिकेडिंग के चलते वे मंच तक नहीं पहुंच सके लेकिन इस बीच कई समर्थक मीडिया गैलरी, टेंट के खंभे व पानी की टंकी पर चढ़ गए। एक दूसरे के ऊपर चढ़कर अखिलेश को अपना चेहरा दिखाने की होड़ में कई जगह रेलिंग तोड़ दी। युवाओं के बोझ से कई कुर्सियां टूट गईं। सपा नेता पानी की टंकी व टेंट के खंभे से लोगों से उतरने की अपील कर रहे थे, लेकिन कोई मान नहीं रहा था।

एक लाख से अधिक भीड़ थी। अपने नेता को सुनने और देखने के लिए आतुर थे। कुछ कार्यकर्ता बैरिकेडिंग की तरफ जा रहे थे, जिन्हें रोक दिया गया। अधिक भीड़ में संभव है कुछ कुर्सियां टूट गई होंगी। -गोपाल यादव, जिलाध्यक्ष सपा, गाजीपुर।

अखिलेश की जनसभा में हर जगह हंगामा हो रहा है। जनता सपा नेताओं और इसके कार्यकर्ताओं का असली चेहरा देख रही है। ये घटनाएं बता रही हैं कि इंडी गठबंधन की सरकार बनी तो सपाइयों का उपद्रव झेलना पड़ेगा। -भानुप्रताप सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष, भाजपा, गाजीपुर।

इसे भी पढ़ें: हमीपुर में 46 डिग्री पहुंचा पारा, इंजन ओवरहीट होने से बीच रास्ते खराब हुई बस; रोडवेज ड्राइवर की लू लगने से मौत