Move to Jagran APP

गाजीपुर तिहरा हत्याकांड का खुलासा: पहले मां, फिर पिता और अंत में भाई का काटा गला, घर का 'लाडला' इश्‍क में बना हैवान

नंदगंज के कुसम्ही कला के खिलवा गांव निवासी ट्रिपल मर्डर को लेकर गम गुस्सा और अब अफसोस है। पिता मुंशी बिंद मां देवंती व बड़े भाई राम आशीष की नृशंस तरीके से की गई हत्या ने सभी को झकझोर कर रख दिया था। एक परिवार में जब तीन अर्थियां निकलीं तो हर किसी की आंखों से बरबस की आसूं टपक गया।

By Shivanand Rai Edited By: Vivek Shukla Wed, 10 Jul 2024 11:02 AM (IST)
गाजीपुर तिहरे हत्‍याकांड के बाद रोते बिलखते परिजन, मौके पर जुटी भीड़। जागरण

संवाद सहयोगी, जागरण गाजीपुर। पिता, मां व बड़े भाई की हत्या करने का प्लान किशोर के दिमाग में कई दिनों से चल रहा था। बताया कि प्लान के तहत ही पहले मां, फिर पिता और अंत में बड़े भाई का गला काटा।

पुलिस पूछताछ में बताया कि चारपाई पर सो रही मां के गर्दन पर खुरपा से प्रहार किया। एक ही प्रहार में उनकी मौत हो गई। वह कुछ बोल भी नहीं पाई। इसके बाद पिता के गले पर वार किया, वह भी कुछ बोल नहीं पाए, लेकिन उनके मुंह से आह की आवाज आई।

उठना चाहे लेकिन तब तक दूसरा वार किया, जिससे वह चारपाई से नीचे गिर गए और उनकी मौत हो गई। सबसे अंत में अंदर सो रहे बड़े भाई के गले पर वार किया। प्रहार के बाद वह उठकर भागना चाहा, लेकिन दरवाजे पर गिर गया और वहीं उसके गले पर कई वार कर उसे मौत की नींद सुला दिया। बताया कि तीनों में से कोई यह भी नहीं जान पाया कि उन्हें कौन मार रहा है।

इसे भी पढ़ें-Ghazipur Triple Murder: आधे घंटे तक अपनों के साथ खेला खूनी खेल, पांच मिनट में टूट गया हत्यारोपित

पूरे परिवार के साथ गया था आर्केस्ट्रा देखने

रविवार को गांव में एक तिलक समारोह में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। रात में वह अपने माता-पिता और बड़े भाई के साथ कार्यक्रम में गया था। रात करीब दस बजे सभी वापस आ गए। इसके बाद किशोर सभी के सोने का इंतजार करता रहा। सो जाने पर शराब पी और फिर बक्शे से खुरपा निकालकर ताबड़तोड़ प्रहार कर दिया।

तीन इंच के खुरपे को दो दिन पूर्व दिलाया था धार

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि किशोर के सिर पर खून सवार हाे गया था। तीन दिनों से वह हत्या की प्लानिंग कर रहा था। घटना के दो दिन पूर्व घर से खुरपा लेकर बाजार गया और उसमें धार दिलाया था। इसके बाद घर आकर उसे एक बक्शे में रख दिया था। खुरपा करीब तीन इंच का है। तेज धार के कारण ही सभी की तत्काल मौत हो गई।

इसे भी पढ़ें-गोरखपुर में सरयू खतरे के निशान के पार, राप्ती की रफ्तार से लोगों की अटकी सांसे

रात में दो बार बदला कपड़ा

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि स्वाट, सर्विलांस और स्थानीय पुलिस मामले के तह में जाकर जो जांच की और फारेंसिक टीम ने जो साक्ष्य एकत्र किए सभी किशोर की ओर ही इंगित कर रहे थे। बताया कि जब वह परिवार के साथ सांस्कृतिक कार्यक्रम में गया था, तो कपड़ा दूसरा था और हत्या के बाद दूसरा।

कार्यक्रम का वीडियो सामने आने पर वह रात में दो अलग-अलग कपड़े में नजर आया। पूछताछ में भी उसने बताया कि हत्या करने के बाद उसने कपड़ा बदल लिया और फिर दोबारा कार्यक्रम में गया था।

20 मीटर दूर से ही चीखने लगा था किशोर

देर रात हत्या करने के बाद किशोर दोबारा सांस्कृतिक कार्यक्रम में गया। करीब 15 मिनट बाद वहां से कुछ लोगों के साथ घर आया। घर से करीब 20 मीटर दूर ही वह तेज-तेज से चीखने-चिल्लाने लगा। जबकि उस समय अंधेरा था। ऐसा लगा जैसे उसे पहले से घटना के बारे में मालूम हो।

नामजद आरोपित राधे व उसके स्वजन को पुलिस ने गाड़ी से छोड़ा घर

मृतक मुंशी बिंद के बड़े भाई रामप्रकाश बिंद ने गांव के ही राधे बिंद और अन्य के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराया था। पुलिस राधे बिंद व उनके अन्य स्वजन को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही थी। जब असल हत्यारोपित पकड़ में आ गया तो मंगलवार को राधे बिंद व उसके स्वजन को पुलिस अपनी गाड़ी से घर तक छोड़कर आई।

बीएनएस 103 (1) के तहत दर्ज किया मुकदमा

हत्यारोपित किशोर के खिलाफ नंदगंज थाने में पुलिस ने धारा 103 (1) भारतीय न्याय संहिता 2023 के तहत मुकदमा पंजीकृत किया है। इसमें मृत्युदंड या आजीवन कारावास के साथ अर्थदंड का प्रावधान है। किशोर की उम्र 16 वर्ष है। इसलिए अभी उसे किशोर सुधार गृह भेजा गया है।

तिहरा हत्याकांड....गम, गुस्सा....अब अफसोस

नंदगंज के कुसम्ही कला के खिलवा गांव निवासी ट्रिपल मर्डर को लेकर लोगों में इस कदर गम व गुस्सा था कि लोग हत्यारे को पकड़ने के लिए जाम तक लगा दिया, लेकिन जैसे ही लोगों को पता चला कि कातिल तो उनका ही छोटा बेटा है तो लोग उसे कोसने लगे। हर किसी को इस बात का अफसोस है कि बेटे ने ही परिवार का सफाया कर दिया।