नई दिल्ली/गाजियाबाद, ऑनलाइन डेस्क। कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के चलते दिल्ली-एनसीआर में सख्ती बढ़ गई हैं, वहीं तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों की पूरी तरह से वापसी की जिद पर किसान अड़े हुए हैं। वहीं, तीनों कृषि कानूनों के विरोध में यूपी गेट पर चल रहे धरना-प्रदर्शन के कारण वाहन चालक यूपी गेट होकर दिल्ली नहीं जा पा रहे हैं। दरअसल, दिल्ली यातायात पुलिस ने कोरोना वायरस संक्रमण और किसानों के धरना प्रदर्शन के चलते कई रास्तों को बंद कर दिया है। ऐसे में गाजियाबाद के वाहन चालकों को अन्य सीमाओं से गुजरना पड़ रहा है। इससे उन्हें काफी परेशानी हो रही है। अब इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पुलिस के उच्चाधिकारी से शिकायत की गई है। इसमें कहा गया है कि कई रास्ते बंद होने से गाजियाबाद के लोगों की जिंदगी में परेशानियां बढ़ गई हैं , ऐसे में इस संबंध में उचित कदम उठाए जाएं।

वाहन चालक अपना रहे लंबे-वैकल्पिक रास्ते, समय और पैसा दोनों हो रहा जाया

उधर, शुक्रवार को यूपी गेट पर दिल्ली जाने वाली लेन बंद होने से वाहन चालकों को खोड़ा, ईडीएम मॉल, महाराजपुर, चंद्र नगर, ज्ञानी बॉर्डर, भोपुरा आदि सीमाओं से दिल्ली भेजा गया। खोड़ा सीमा को जोड़ने वाली पुश्ता रोड खराब होने से राहगीरों को दिक्कत हुई। महाराजपुर सीमा पर वाहनों का दबाव रहा। इससे वाहन चालक परेशान हुए। वहीं, हालात के मद्देनजर लगता नहीं है कि आने वाले समय में भी यह समस्या दूर हो पाएगी।

राकेश टिकैत का एलान, लॉकडाउन में भी चलता रहेगा आंदोलन 

इतना ही भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने तो एलान भी कर दिया है कि कोरोना के चलते आंदोलन स्थगित करने का तो सवाल ही पैदा नहीं होता है। कृषि कानून रद किए जाने को लेकर आंदोलन जारी रहेगा। शुक्रवार को पत्रकारों के सवाल के जवाब में राकेश टिकैत ने यूपी गेट पर प्रदर्शनकारियों के बीच दो टूक कहा कि अगर लॉकडाउन लगेगा, तब भी आंदोलन चलता रहेगा।

 इसे भी पढ़ेंः नोएडा-गाजियाबाद में रविवार को लॉकडाउन के दौरान किसे मिलेगी छूट व किस पर रहेगी पाबंदी, यहां जानें सारी डिटेल्स

तेज आंधी में उड़े किसानों के टेंट 

शुक्रवार शाम आई तेज आंधी में यूपी गेट पर कृषि कानून विरोधी प्रदर्शनकारियों के कई टेंट क्षतिग्रस्त हो गए। इस दौरान यहां मौजूद प्रदर्शनकारियों में अफरा-तफरी का माहौल रहा। विगत 28 नवंबर से तीन कृषि कानूनों के विरोध में विभिन्न संगठन इसका विरोध कर रहे हैं, जिसके लिए यूपी गेट पर बड़ी संख्या में दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस-वे की दिल्ली जाने वाली लेन बंद कर यहां धरनारत प्रदर्शनकारियों ने टेंट व मंच लगाया है। शुक्रवार शाम आई तेज आंधी में यूपी गेट पर लगे टेंट इससे क्षतिग्रस्त हो गए। आंधी एक घंटा से अधिक समय तक चली।

 इसे भी पढ़ेंः गाजियाबाद में कई जगहों पर 9 दिन बंद रहेंगी शराब की दुकानें, आदेश जारी

Farmer Protest: हरिद्वार कुंभ ने डराया ! दिल्ली-यूपी और हरियाणा के बॉर्डर पर भी फूट सकता है कोरोना बम

संयुक्त किसान मोर्चा समिति के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने क्षतिग्रस्त हुए टेंट को फिर से संभालने का काम रात में ही शुरू कर दिया। गाजीपुर बार्डर संयुक्त किसान मोर्चा समिति के प्रवक्ता जगतार सिंह बाजवा ने बताया कि कुछ टेंट आंधी से क्षतिग्रस्त हुए हैं, जिन्हें ठीक कराया जा रहा है। इससे किसी प्रकार की कोई ज्यादा हानि नहीं हुई है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप