गाजियाबाद [अभिषेक सिंह]। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के मद्देनजर गौतमबुद्धनगर, मेरठ, बागपत, हापुड़ से सटे क्षेत्रों में जिले में इस माह नौ दिन शराब की दुकानें बंद रहेंगी। इस संबंध में जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने शनिवार को आदेश जारी किया है। पहले चरण में गाजियाबाद में मतदान हो चुका है। दूसरे चरण में गौतमबुद्धनगर, बागपत में 19 अप्रैल को, तृतीय चरण में मेरठ में 26 अप्रैल को और चतुर्थ चरण में हापुड़ में 29 अप्रैल को मतदान होना है।

इन जिलों की सीमाएं गाजियाबाद से मिली हैं, इस वजह से मतदान से 48 घंटे पूर्व आठ किलोमीटर के दायरे में शराब, बीयर, भांग की दुकानें बंद कर दी जाएंगी। मतदान खत्म होने के बाद इन दुकानों को खोला जा सकेगा।

कहां कब बंद रहेंगी शराब की दुकानें

ऐसे में 17 अप्रैल से 19 अप्रैल तक गौतमबुद्धनगर से सटे विजयनगर, इंदिरापुरम, कौशांबी में और बागपत से सटे लोनी में तो 24 अप्रैल् से 26 अप्रैल तक मेरठ से सटे मोदीनगर क्षेत्र में और 27-29 अप्रैल के बीच हापुड़ से सटे मसूरी क्षेत्र में शराब की दुकानें बंद रहेंगी।

दरअसल, पंचायत चुनाव में शराब की तस्करी बढ़ जाती है। पंचायत चुनाव में शराब बांटने की भी शिकायतें आती हैं। इसके अलावा चुनाव के दौरान शराब पीकर हंगामा भी करते हैं। पंचायत चुनाव शांतिपूर्वक संपन्न कराने के लिए जिला प्रशासन ने ये कदम उठाया है। 

 इसे भी पढ़ेंः नोएडा-गाजियाबाद में रविवार को लॉकडाउन के दौरान किसे मिलेगी छूट व किस पर रहेगी पाबंदी, यहां जानें सारी डिटेल्स

मतदान के दिन समस्त सूचनाएं कंट्रोल रूम को देना होगा अनिवार्य

त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन के संबंध में गौतमबुद्धनगर के अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व वंदिता श्रीवास्तव ने सभी जोनल, सेक्टर मजिस्ट्रेट एवं पुलिस सेक्टर मजिस्ट्रेट के साथ बैठक की। निर्देश दिया कि मतदान के दौरान अपने-अपने क्षेत्र में निरंतर स्तर पर भ्रमणशील रहकर कुशलता पूर्वक मतदान को संपन्न कराएं।

कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक करते हुए वंदिता श्रीवास्तव ने कहा कि सभी सेक्टर, जोनल एवं पुलिस सेक्टर मजिस्ट्रेट अपने क्षेत्र में निरंतर स्तर पर भ्रमण करते हुए मतदान की समस्त प्रक्रिया को स्वतंत्र, निष्पक्ष, पारदर्शी एवं शांतिपूर्वक ढंग से संपन्न कराने की कार्यवाही सुनिश्चित करेंगे।

मतदान शुरू होने से मतदान समाप्ति तक समस्त सूचनाएं कंट्रोल रूम को उपलब्ध कराएंगे। उन्होंने सभी मजिस्ट्रेट को यह भी निर्देश दिए कि उनके द्वारा समय रहते हैं अपने-अपने क्षेत्रों में भ्रमण कर लिया जाए। यदि मतदान केंद्रों पर किसी प्रकार की समस्या उनको लग रही है तो उसकी जानकारी तुरंत संबंधित अधिकारियों को देते हुए उसका निस्तारण समय रहते करा लिया जाए। ताकि चुनाव प्रक्रिया के दौरान किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न न हो और चुनाव को जनपद में सकुशल संपन्न कराया जा सके।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप