Move to Jagran APP

बागपत: बृजभूषण सिंह के समर्थन में राजपूत विकास समिति, 'मनमाने फैसले ले रही खाप, दिल्ली पुलिस को करने दें जांच'

Baghpat News राजपूतों ने भरी खाप पंचायतों के खिलाफ हुंकार। राष्टपति के नाम एक ज्ञापन सौंपा जिसमें मांग की गयी कि बृजभूषण के खिलाफ खाप पंचायतों के फैसले तुरंत वापस कराए जाएं। निष्पक्ष जांच की जाए और धरना स्थल से राजनीतिक लोगों को दूर रखा जाए।

By Jagran NewsEdited By: Abhishek SaxenaMon, 05 Jun 2023 02:09 PM (IST)
Baghpat News: राजपूतों ने भरी खाप पंचायतों के खिलाफ हुंकार

बागपत, जागरण संवाददाता। सांसद बृजभूषण सिंह के खिलाफ खाप पंचायतें आक्रामक रुख अपनाए हुए हैं। अब खाप पंचायतों के खिलाफ बागपत में राजपूत विकास समिति ने भी मोर्चा खोल दिया है। सोमवार दोपहर कलक्ट्रेट पर राजपूत समाज के लोगों ने प्रदर्शन कर खाप पंचायतों के फैसलों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

कलक्ट्रेट पर किया प्रदर्शन

राजपूत विकास समिति बागपत के अध्यक्ष ठाकुर राजेश चौहान के नेतृत्व में राजपूत समाज के लोग कलक्ट्रेट पर एकत्रित हुए। इसके बाद उन्होंने खाप पंचायतों के फैसलों के खिलाफ प्रदर्शन किया। ठाकुर राजेश चौहान , ठाकुर अजयवीर तथा रमेश कुशवाहा आदि वक्ताओं ने कहा कि खाप पंचायतें मनमाने ढंग से फैसले लेकर फरमान सुना रही हैं। इससे समाज में माहौल खराब हो रहा है। उन्होंने कहा कि इस देश में न्याय पालिका है तथा संविधान है। सांसद बृजभूषण सिंह के खिलाफ दिल्ली पुलिस में एफआईआर दर्ज है तथा पुलिस अपना काम कर रही है। फिर ये खाप पंचायतें बिना वजह क्यों हंगामा मचाए हुए है।

पहलवान बेटियों के विरोध में नहीं हैं, कानून को काम करने दीजिए

वक्ताओं ने कहा कि हम पहलवान बेटियों के विरोध में नहीं है, इसलिए कानून को अपना काम करने दीजिए। यदि सांसद ब्रजभूषण सिंह दोषी है, तो उन पर अवश्य कार्रवाई की जाए। राजपूत हमेशा ही देश और समाज के लिए न्यौछावर हुए है। एडीएम प्रतिपाल चौहान को राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन सौंपा गया। इस ज्ञापन में कुश्ती संघ के निर्वतमान अध्यक्ष बृजभूषण सिंह की निष्पक्ष जांच की जाए तथा जो भी दोषी हो, उनके विरूद्व कानूनी कार्रवाई की जाए। ब्रजभूषण सिंह के खिलाफ खाप पंचायतों द्वारा जारी किए जा रहे फरमान पर रोक लगायी जाए। रा

धरने में राजनीतिक लोगों को रोका जाए

जपूत विकास समिति धरना देने वाले पहलवानों का सम्मान करती है, लेकिन उनके धरने पर राजनैतिक लोगों को जाने से रोका जाए। खुले मंचों से असंवैधानिक भाषा का प्रयोग करने तथा जान से मारने की धमकी देने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। बृजभूषण सिंह को बदनाम करने की साजिश को रोका जाए।

ये रहे मौजूद

इस दौरान राजेश चौहान, वीरेन्द्र सिंह, कुंवर अशोक चौहान, अमित मानव, राकेश प्रधान, प्रदीप चौहान, सतीश चौहान, श्रीकांत राजपूत, प्रशांत चौहान, अंकुर, रूपेन्द्र प्रताप सिंह, रामभजन सिंह तथा भीम सिंह समेत अनेको लोग मौजूद रहे।