अमेठी (जेएनएन)। सोमवार को रेलवे स्टेशन से एक फर्जी एलआईयू इंस्पेक्टर को लोगों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। कोतवाली के गंगौली गांव निवासी हरीश सिंह रेलवे के ठेकेदार हैं। हरीश ने पासपोर्ट के लिये आवेदन किया था। सोमवार दोपहर बाद एक व्यक्ति ने हरीश सिंह के मोबाइल पर फोन करके कहा कि आपकी जांच आई है कहा मिलेंगे। इस पर हरीश ने जवाब दिया कि वह रेलवे स्टेशन पर स्थित साईकल स्टैंड पर हैं। उक्त युवक ने हरीश के पास पहुंचकर उनका आधार कार्ड और 1500 रुपए की मांग की।

हरीश के मुताबिक पैसा मांगने पर उनको शक हुआ जिसके बाद उन्होंने गौरीगंज फोन करके अपने परिचित एलआईयू विभाग के कर्मी को फोन किया। कार्यालय के लोगों ने ऐसे किसी कर्मचारी के स्टॉप में नहीं होने की जानकारी दी। इसके बाद हरीश ने उक्त युवक को बैठाकर पुलिस और एलआईयू अधिकारियों को फोन किया।

मौके पर पहुंचे एलआईयू के अधिकारियों ने उसकी पहचान की और पुलिस को जानकारी दी कि यह विभाग का कोई कर्मचारी नहीं है। इसके बाद पुलिस युवक को हिरासत में लेकर कोतवाली लाई। हरीश सिंह ने बताया कि जो युवक उनके पास आया था उसके पास उनकी ओर से आवेदन किये हुए सारे कागजात मौजूद थे।

इतने बड़े विभाग के सारे अभिलेख गलत हाथो में कैसे पहुंचे यह एक गंभीर विषय है। एलआईयू इंस्पेक्टर केदारराम ने बताया कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है कि फर्जी इंस्पेक्टर पकड़ा गया है। विभाग के अभिलेख उक्त युवक के पास कैसे पहुंचा इस सवाल पर वह कोई जवाब नहीं दे सके। कहा कि पुलिस के पास भी कागजात जाते है हो सकता है पुलिस ने उक्त युवक को अभिलेख दिया हो।

यह भी पढ़ें: नववर्ष में नए कलेवर में दिखेगी यूपी पुलिस, होंगे कई सुधार

कहा कि अगर ऐसा कोई व्यक्ति पकड़ा गया है तो पुलिस उस पर कार्रवाई करे। थानाध्यक्ष भरत उपाध्याय ने बताया कि एक युवक को हरीश सिंह के स्टैंड से पकड़ा गया है वह अपने को एलआईयू का कर्मचारी बता रहा था। पकड़े गये युवक की पहचान कटरा लालगंज निवासी शैलेंद्र प्रकाश सिंह के रूप में हुई है। विभाग के कर्मचारी से तहरीर लेकर मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: महाराजगंज में बोले सीएम योगी, 'गरीबों के हक पर डाका डालने वाले जाएंगे जेल'

Posted By: Amal Chowdhury

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप