प्रयागराज, जागरण संवाददाता। विजयदशमी के दिन दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान प्रयागराज जिले के अलग-अलग स्थानों पर हादसे हुए थे। चार युवक नदी में डूब गए थे। उनमें से दो की मौत हो गई है। यमुनापार के कोरांव में प्रतिमा विसर्जन के दौरान एक युवक की पानी में डूबने से मौत हो गई, जबकि एक को बचा लिया गया था। वहीं गंगापार में फूलपुर के वरुणा नदी में एक युवक समा गया था, उसकी मौत हो गई, एक अन्‍य डूबे युवक को बचा लिया गया था।

फूलपुर में वरुणा नदी में दो युवक डूबे थे : फूलपुर में वरुणा नदी में प्रतिमा विसर्जन के दौरान दो युवक बुधवार की शाम गहरे पानी में चले गए और डूबने लगे। यह देख साथ के लोगों ने उन्‍हें मशक्‍कत के बाद बाहर निकाला। दोनों को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है, जहां एक युवक की मौत हो गई। वहीं दूसरे की हालत गंभीर बनी हुई है।

प्रतिमा विसर्जन के दौरान हादसा : शारदीय नवरात्र में फूलपुर कोतवाली इलाके के वरुणा बाजार में पूजा पंडाल में मां दुर्गा की प्रतिमा स्‍थापित करके पूजन-अर्चन किया गया था। विजयदशमी पर बुधवार को ढोल-तासे की धुन पर नाचते-गाते भक्‍त प्रतिमा विसर्जन के लिए वरुणा नदी शाम लगभग चार बजे पहुंचे। वरुणा नदी में प्रतिमा विसर्जन के दौरान अमरेश तिवारी पुत्र राम अभिलाष तिवारी व आनंद गौड़ पुत्र मुन्ना लाल गौड़ निवासी मोहम्मदाबाद उर्फ मैलवन गहरे पानी में डूबने लगे। यह देख साथ आए लोगों ने किसी प्रकार उन्‍हें नदी से बाहर निकाला।

आनंद गौड़ की इलाज के दौरान मौत : दोनों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र फूलपुर लाया गया। उनके परिवार के लोग भी जानकारी होने पर वहां पहुंचे। अमरेश तिवारी की हालत नाज़ुक होने के कारण उसे एसआरएन अस्पताल रेफर किया गया। वहीं आनंद गौड़ के परिवार के लोग उसे फूलपुर स्थित किसी निजी अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया है। देर रात उपचार के दौरान अमरेश तिवारी की मौत हो गई।

कोरांव में दो युवक डूबे थे, एक का शव मिला : कोरांव थाना क्षेत्र के चंदापुर में प्रतिमा विसर्जन के दौरान दो युवक नदी में डूब गए। ग्रामीणों ने एक को तो निकाल लिया, जबकि दूसरे को नहीं खोज सके। गोताखोरों को बुलाया गया, जिसके बाद डूबे युवक को बाहर निकाला गया। हालांकि तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। उसकी पहचान शिवशंकर के रूप में हुई है।

Edited By: Brijesh Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट