अलीगढ़, जागरण संवाददाता। Aligarh News : साइबर सेल की ओर से गुरुवार को डीएस इंटर कालेज में साइबर जागरूकता सेमिनार का आयोजन किया गया। इसमें विद्यार्थियों व अध्यापकों को जागरुकता संबंधी बुकलेट बांटी गई और वर्तमान समय में होने वाले विभिन्न प्रकार के साइबर अपराधों के बारे में बताया। साथ ही इससे बचने के टिप्स भी दिए।

​​​​​

इस तरह होते हैं अपराध

साइबर सेल के प्रभारी राकेश कुमार ने बताया कि इन दिनों लोन एप के माध्यम से फोन का एक्सिस लेकर पैसे मांगना, परिचित बनकर रुपये खाते में डलवाने का बहाना बनाकर ठगी करना, लाटरी व उपहार का लालच देकर ठगी करना, मोबाइल फोन सिम को अपडेट करने के बहाने से बैंक खाते व अन्य की जानकारी लेकर ठगी करना, गूगल पर कस्टमर केयर का नंबर सर्च कर बात करने पर ठगी होना, फेसबुक, इंस्टाग्राम व वाट्सएप पर दोस्ती, फिर वीडियो काल द्वारा अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करना, ओएलएक्स पर सामान बेचने व खरीदने के बहाने से ठगी करना जैसे साइबर अपराध हो रहे हैं। इनसे बचने के लिए किसी भी अंजान नंबर से परिचित बनकर आने वाली फोन काल की पड़ताल करें। अपने मोबाइल फोन सिम को कभी भी आनलाइन अपडेट करवाने वाली फोन काल से बचें। यदि कभी भी आपको किसी कंपनी का कस्टमर केयर नंबर की जरूरत होती है तो हमेशा उस कंपनी की वास्तविक मेल साइट पर ही जाकर नंबर प्राप्त करें। साइबर अपराध की घटना होने पर हेल्पलाइन नंबर 1930 पर काल करें। इसकी शिकायत साइबर क्राइम पुलिस पोर्टल www.cybercrime.gov.in पर भी कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : Sanskaarshala: समय से पहले बच्चों को बड़ा बना देता है माेबाइल, पैरेंट्स ऐसे करें कंट्रोल

आनलाइन ठगी के 49 हजार कराए वापस

अलीगढ़। साइबर सेल की टीम ने आनलाइन धोखाधड़ी का शिकार हुए पीड़ित के खाते में 49 हजार 500 रुपये वापस कराए हैं। कुलदीप विहार निवासी ममता वर्मा ने थाना क्वार्सी में प्रार्थना पत्र देकर बताया था कि 10 जुलाई को अज्ञात व्यक्ति ने काल करके बातों में फंसाया और ओटीपी के माध्यम से 49 हजार 500 रुपये खाते से पार कर दिए थे। इस पर पुलिस ने पेमेंट गेटवे से संपर्क करके धोखाधड़ी की धनराशि को रुकवाया और पूरी रकम वापस कराई।

Edited By: Anil Kushwaha

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट