अलीगढ़, जेएनएन। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध के बीच संवेदनशील ऊपरकोट इलाका रविवार दोपहर एक अफवाह से सुलग उठा। कोतवाली से रिश्तेदारों को जीप में लेकर जा रहे इंस्पेक्टर की जीप में कुछ युवकों को गिरफ्तार करके ले जाने के शक में सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं ने घेर लिया। भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया। एक खोखे को आग लगा दी गई।

पुलिस ने हालात संभालने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। कुछ ही मिनट में बाबरी मंडी में सीएए के विरोधी और समर्थक आमने-सामने आ गए। जमकर पथराव और फायरिंग हुई। एक युवक गोली लगने से घायल हो गया। पथराव में भी कई लोग घायल हुए और एक दमकल क्षतिग्रस्त हो गई। उपद्रवियों को काबू में करने के लिए पुलिस ने यहां रबर बुलेट का इस्तेमाल किया। शहर के माहौल को देखते हुए सोमवार की रात 12 बजे तक के लिए इंटरनेट सेवा बंद की गई है।

अलीगढ़ जिलधिकारी सीबी सिंह ने तनाव को देखते हुए अलीगढ़ में इंटरनेट बंद करने का आदेश दिया है। डीएम ने कहा कि स्थिति अब नियंत्रण में है। ऊपरकोट मोहल्ले में विरोध प्रदर्शन कर रही महिलाओं को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) की कुछ छात्राओं ने आकर भड़काया और उसी के चलते कोतवाल की गाड़ी पर अचानक हमला किया गया और बवाल हुआ। हम उनकी पहचान करने की कोशिश कर रहे हैं। अभी नुकसान का आकलन किया जा रहा है। इसकी भरपाई प्रदर्शकारियों से की जाएगी। 

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में अलीगढ़ के शाहजमाल ईदगाह के बाहर 26 दिन से धरना चल रहा है। कुछ महिलाएं शुक्रवार रात शहर कोतवाली के बाहर धरने पर बैठ गईं। उनके न हटने पर रविवार सुबह से तनाव बढऩे लगा। इस बीच कुछ युवकों की गिरफ्तारी की अफवाह से भड़कीं महिलाओं ने इंस्पेक्टर की जीप को घेर लिया और पथराव कर दिया। पुलिस ने लाठी चार्ज किया तो ऊपर कोट में उपद्रवियों ने एक खोखा में आग लगा दी। वहीं अस्पताल की ओर से कुछ युवकों ने पुलिस पर पथराव किया।

यहां से उपद्रवियों को पुलिस ने खदेड़ा तो उन्होंने घास की मंडी और बाबरी मंडी में मोर्चा संभाल पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिस ने रबर बुलेट और आंसू गैस के गोले छोड़े। पुलिस यहां से लौटी तो बाबरी मंडी में हिंदू- मुस्लिम समाज के लोग आमने आ गए। वहां दोनों ओर से जमकर पथराव हुआ। यहां दोनोंं पक्षों ने एक-दूसरे पर फायरिंग का भी आरोप लगाया है। बाबरी मंडी में गोली लगने से यहीं का रहने वाला तारिक घायल हो गया। देर रात तक तनाव को देखते हुए कमिश्नर जीएस प्रियदर्शी, डीआइजी डॉ. प्रीतेंदर सिंह, डीएम चंद्रभूषण सिंह, नवागत एसएसपी मुनिराज लगातार गश्त कर रहे थे।

एएमयू की छात्राओं ने खराब किया शहर का माहौल :  डीएम

डीएम चंद्रभूषण सिंह ने बताया कि धरने पर बैठीं महिलाओं को लगातार समझाने का प्रयास किया गया। शहर मुफ्ती व ईदगाह के इमाम ने भी समझाया, पर वे नहीं मानीं। एएमयू की कुछ छात्राओं ने माहौल खराब कराया है, उन्हें चिह्नित किया जा रहा है। महिलाओं के साथ आए युवकों ने पुलिस पर पथराव किया। बाबरी मंडी में भी माहौल खराब करने की कोशिश की गई। फिलहाल हालात सामान्य हैं। रेड स्कीम लागू कर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस