आगरा/किरावली, प्रमोद पाठक। आस्ट्रेलिया में नस्लीय हिंसा के चलते भारतीय छात्र पर हमला बोला गया है। उस पर ताबड़तोड़ चाकुओं से प्रहार किए गए। हमले में छात्र की हालत गंभीर है। शाेध छात्र आगरा के पास किरावली का रहने वाला था। अब परिवार के लोग उसकी देखभाल के लिए सिडनी जाना चाहते हैं लेकिन उन्हें वीजा नहीं मिल रहा है। बुधवार को परिवार के लोगाें ने फतेहपुरसीकरी के सांसद राजकुमार चाहर से मुलाकात की है और उन्हें जल्द से जल्द अपने बेटे के पास भिजवाने की अपील की है। इस पर सांसद ने यथासंभव मदद करने का भराेसा दिलाया है।

ये भी पढ़ेंः इंस्टाग्राम पर प्रेमिका दिखती थी हीरोइन, रूबरू हुआ प्रेमी तो टूट गया दिल

सिडनी की यूनिवर्सिटी से कर रहा पीएचडी

किरावली में पैठगली निवासी रामनिवास गर्ग का 28 वर्षीय बेटा शुभम गर्ग आइआइटी चेन्नई से मास्टर ऑफ साइंस की डिग्री लेकर आस्ट्रेलिया की राजधानी सिडनी शाेध के लिए गया हुआ है। वहां यूएनएसडब्ल्यू कॉलेज से मेकेनिकल इंजीनियरिंग में पीएचडी के लिए उनका चयन हो गया था। पढ़ाई के लिए शुभम पिछले महीने एक सितंबर को ही सिडनी के लिए रवाना हुआ था।

नस्लीय हिंसा का हुआ शिकार

छह अक्टूबर को रात 10 बजे अपने कमरे पर लौटते समय शुभम को एक हमलावर ने नस्लीय हिंसा का शिकार बनायाा। शुभम के जबड़े, छाती और पेट में 11 बार चाकू मारकर अधमरा छोड़कर हमलावर भाग निकला। आस्ट्रेलिया की पुलिस ने केस दर्ज कर 10 अक्टूबर को हमलावर डेनियल नोरवुड को गिरफ्तार कर लिया और गंभीर घायल शुभम गर्ग रॉयल नार्थ शोर हॉस्पिटल सेंट लोनार्डस सिडनी में भर्ती कराया गया। अस्पताल में शुभम जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रह है।

ये भी पढ़ेंः Kumar Vishwas का बड़ा बयान, हाईकोर्ट का निर्णय दिल्ली में बैठे चिंटूओं के मुंह पर तमाचा

परिवार चिंता में परेशान, ढूंढ़ रहा विदेश जाने का रास्ता

शुभम के रूम पार्टनर से सूचना मिलते ही परिजन अपने बच्चे को लेकर बहुत चिंतित हो उठे। चाचा राजकुमार गर्ग कस्बे के लोगाें के साथ सांसद राजकुमार चाहर से मिले। इन लोगाें ने सांसद ने कहा कि बेटे के पास हॉस्पिटल में देखभाल करने वाला कोई नहीं है और वे उसकी सुरक्षा को लेकर भी चिंतित हैं। सांसद राजकुमार चाहर से शुभम के छोटे भाई रोहित गर्ग को तत्काल वीजा दिलाए जाने की मांग की।

इस पर सांसद ने विदेश मंत्रालय को फोन एवं मेल कर जल्द से जल्द वीजा बनवाने की पहल की है। परिजनों ने बताया कि बुधवार शाम तक विदेश मंत्रालय से जवाब नहीं आया है। इधर मां कुसुम गर्ग, शुभम की बहनाें और छोटे भाई ने भारत सरकार से तत्काल वीजा दिलाए जाने का अनुरोध किया है।

Edited By: Prateek Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट