Move to Jagran APP

फर्जी वीडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म ने लगाया नेटफ्लिक्स और प्राइम वीडियो को चूना, कई साल से कर रहा था खेल

जेटफ्लिक्स बनाने और चलाने के लिए पांच लोगों को दोषी ठहराया गया है। ये लोग फर्जी वीडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म को 2007 से चला रहे थे। जेटफ्लिक्स नाम के इस वीडियो प्लेटफॉर्म पर मूवी या वेबसीरीज रिलीज के कुछ घंटे बाद ही आ जाती थी। अमेरिकी न्याय विभाग ने एक बयान में कहा कि ये लोग बिना परमिशन अमेजन और नेटफ्लिक्स के कॉन्टेंट को इस्तेमाल कर रहे थे।

By Yogesh Singh Edited By: Yogesh Singh Sun, 23 Jun 2024 01:00 PM (IST)
जेटफ्लिक्स बनाने और चलाने के लिए पांच लोगों को दोषी ठहराया गया है।

टेक्नोलॉजी डेस्क, नई दिल्ली। मूवी या वेबसीरीज रिलीज होने के कुछ घंटे बाद ही लीक हो जाती है। ये सब मूवी पायरेसी या ऑनलाइन पायरेसी की वजह से होता है। कई ऐसे प्लेटफॉर्म हैं जो बिना किसी सब्सक्रिप्शन के ही फ्री में मूवी या वेबसीरीज दिखा देते हैं। अब एक ऐसा ही मामला लास वेगास अमेरिका से सामने आया है।

जिसमें कुछ लोगों ने जेटफ्लिक्स नाम से एक वीडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म बनाया और उस पर पिछले कई सालों से पायरेटेड कॉन्टेंट लोगों को परोस रहे थे। जिसके बारे में अब जाकर खुलासा हुआ है और पांच लोगों को इसमें दोषी पाया गया है।

सालों से चल रहा था खेल

जेटफ्लिक्स बनाने और चलाने के लिए पांच लोगों को दोषी ठहराया गया है। ये लोग फर्जी वीडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म को 2007 से चला रहे थे। जेटफ्लिक्स नाम के इस वीडियो प्लेटफॉर्म पर मूवी या वेबसीरीज रिलीज के कुछ घंटे बाद ही आ जाती थी। इन लोगों ने ग्राहकों से इस सर्विस के लिए हर माह $9.99 लिए और लोगों तक 183,000 से अधिक टीवी एपिसोड और 10,000 फिल्में पहुंचाई।

कॉपीराइट पॉलिसी का उल्लघंन

लास वेगास में एक संघीय जूरी ने जेटफ्लिक्स चलाने वाले इन सभी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं। क्रिस्टोफर डेलमैन, डगलस कॉर्सन, फेलिप गार्सिया, जेरेड जौरेकी और पीटर ह्यूबर सालों से कॉपीराइट पॉलिसियों का उल्लघंन कर रहे थे। यह भी कहा गया है कि डेलमैन नाम का शख्स जेटफ्लिक्स को ऑपरेट करता था। इस मनी लॉन्ड्रिंग के भी आरोप लगे हैं।

अमेरिकी न्याय विभाग ने एक बयान में कहा कि इन लोगों के द्वारा बिना किसी परमिशन के ही अमेजन और नेटफ्लिक्स के कॉन्टेंट को इस्तेमाल किया जा रहा था, जिसके लिए ये ग्राहकों से पैसा ले रहे थे। जेटफ्लिक्स का काम करने का तरीका बिल्कुल वैसा ही था जैसे दूसरे वीडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म करते हैं।

रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि पायरेटेड कॉन्टेंट के दम पर ही ये वेबसाइट नेटफ्लिक्स और अमेजन को भी व्यूज के मामले में टक्कर देने लगी। हालांकि जब कॉन्टेंट के असली मालिकों को इस पूरे मामले की भनक लगी तो इन लोगों ने लिपापोती करने का भी पूरा प्रयास किया।

कितनी हुई कमाई?

अदालत के दस्तावेजों के अनुसार डेलमैन ने एक बार ऑनलाइन चैट में दावा किया कि जेटफ्लिक्स ने एक साल में $750,000 कमाए। हालांकि इससे कॉन्टेंट के असली मालिकों को भारी नुकसान झेलना पड़ा। 

अब पूरा मामला अदालत के सामने आ चुका है। जिसमें ये 5 लोग दोषी पाए गए हैं। कहा गया है कि जेटफ्लिक्स के प्रमुख डेलमैन को इसमें 48 साल तक की जेल हो सकती है। जबकि, अन्य चार लोगों को 5-5 साल जेल में रहना पड़ सकता है। फिलहाल, अदालत ने इनकी सजा की तारीख स्पष्ट नहीं की है।

ये भी पढ़ें- Facebook और Instagram पर मिलने वाली ये सर्विस X पर नहीं रहेगी Free, कंपनी कर रही पैसा वसूलने की तैयारी