नई दिल्ली (टेक डेस्क)। इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट कब खराब हो जाए इसकी गारंटी कोई नहीं दे सकता है। स्मार्टफोन्स या कोई गैजेट खराब हो जाने पर आप उसे सर्विस सेंटर लेकर जाते हैं। कई बार आपका प्रोडक्ट तुरंत ठीक होकर मिल जाता है तो कभी उसे दो से तीन दिन भी लग जाते हैं। लेकिन कई बार जब हम स्मार्टफोन को ठीक करने के लिए सर्विस सेंटर में देते हैं तो हमसे अनजाने में कई गलतियां हो जाती हैं। इससे आपको नुकसान भी झेलना पड़ता है। इसी के चलते हम आपको यह बता रहे हैं कि सर्विस सेंटर पर मोबाइल देने से पहले किन-किन बातों का ख्याल रखना आवश्यक है।

स्मार्टफोन सर्विस के लिए चुनें ऑथराइज सर्विस सेंटर:

सबसे अहम बात यह है मोबाइल फोन हमेशा ऑथराइज सर्विस सेंटर में ही देना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि यहां फोन के ओरिजनल पार्ट्स नहीं बदले जाते हैं और अगर बदले भी जाते हैं तो ओरिजनल पार्ट्स की लगाए जाते हैं। कई बार लोकल सर्विस सेंटर ऑथराइज सर्विस सेंटर का बोर्ड लगा देते हैं जिसके चलते लोगों को धोखा हो जाता है। यहां कई बार ओरिजनल पार्ट्स के बदल दिया जाता है।

सर्विस के बाद जरुर लें ऑरिजनल बिल:

जब भी आप मोबाइल की सर्विस कराएं तो सेंटर से उसका ओरिजनल बिल जरुर लें। वहीं, अगर सर्विस सेंटर ने फोन के पार्ट्स बदलें हैं तो उसका बिल जरुर मांगे। ऐसा इसलिए क्योंकि कई बार सर्विस सेंटर वाले केवल सॉफ्टवेयर अपडेट कर देत हैं और लोगों से पार्ट्स बदलने का पैसा ले लेते हैं।

फोन का डाटा बैकअप जरुर लें:

मोबाइल सर्विस पर देने से पहल फोन डाटा का बैकअप जरुर लें। इस डाटा को आप अपने लैपटॉप, डेस्कटॉप या दूसरे फोन में सेव कर लें। ऐसा इसलिए क्योंकि फोन को सर्विस कराने पर कई बार फोन का डाटा डिलीट हो जाता है। या फिर फोन में मौजूद आपकी निजी फोटोज सार्वजिनक भी हो सकती हैं।

यह भी पढ़ें:

Moto G6 Plus ड्यूल रियर कैमरा और 6 जीबी रैम के साथ भारत में लॉन्च, जानें कीमत

Airtel के पोस्टपेड प्लान में मिलेगा 240GB फ्री डाटा और डिस्काउंट, Vodafone को मिली चुनौती

इन आसान तरीकों के द्वारा Paytm ऐप से 100 रुपये में करे म्युचुअल फंड्स में इनवेस्ट 

Posted By: Shilpa Srivastava