नई दिल्ली (हर्षित कुमार हर्ष)। आजकल बाजार में सिंगल डोर फ्रिज, डबल डोर फ्रिज, ट्रिपल डोर फ्रिज के साथ ही साइड बाई साइड डोर वाले रेफ्रिजरेटर के विकल्प मिल रह हैं। पहले केवल सिंगल डोर फ्रिज ही मिलते थे। क्या आपको पता है कि फ्रिज में सिंगल डोर या मल्टी डोर देने के पीछे की वजह क्या होती है। फ्रिज बनाने वाली कंपनियां फ्रिज की क्षमता बढ़ाने के लिए साथ ही यूजर्स की आवश्यकता के मुताबिक फ्रिज बनाने लगी है। लेकिन क्या मल्टीपल डोर लगाने से फ्रिज में क्या तकनीकी बदलाव करना पड़ता है और सिंगल डोर या मल्टी डोर में क्या अंतर हैं इसके बारे में हमें पता होना चाहिए। आज हम आपको इन फ्रिज की तकनीकी जानकारियों के बारे में बताने जा रहे हैं।

सिंगल डोर रेफ्रिजरेटर्स

जैसा की नाम से साफ पता चलता है कि सिंगल डोर रेफ्रिजरेटर में केवल एक ही बॉक्स दिया जाता है। इसमें डीप फ्रिजिंग या आइस क्यूब बॉक्स भी इसी में फिट किया जाता है। इस फ्रिज की कुछ खास बाते हैं तो कुछ खामियां भी हैं। इस फ्रिज की सबसे बड़ी खूबी यह है कि मल्टी डोर के मुकाबले सिंगल डोर वाले फ्रिज की कीमत कम होती है। इसकी सबसे बड़ी खामी यह होती है कि इसे समय-समय पर डिफ्रोस्ट करना पड़ता है। इस तरह के फ्रिज डायरेक्ट कूलिंग तकनीक के साथ आते हैं औक इसकी अधिकतम क्षमता 300 लीटर तक होती है।

डबल डोर रेफ्रिजरेटर्स

जैसा की इसमें भी नाम से साफ पता चलता है कि इस फ्रिज में दो बॉक्स दिए जाते हैं। इसमें फ्रोस्ट फ्री रेफ्रिजरेशन तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है यानी की इसे समय-समय पर फ्रोस्ट नहीं करना पड़ता है। यह फ्रिज 240 लीटर से लेकर 500 लीटर की क्षमता में बाजार में उपलब्ध है। साथ ही इसमें फ्रिजर बॉक्स और मेन बॉक्स को अलग- अलग रखा जाता है। हालांकि, डबल डोर वाले फ्रिज सिंगल डोर के मुकाबले मंहगे होते हैं और ज्यादा बिजली का उपयोग करते हैं। डबल डोर वाले फ्रिज आमूमन दो वेरिएंट्स में आते हैं।

टॉप माउंट रेफ्रिजरेटर

टॉप माउंट रेफ्रिजरेटर में फ्रिज बॉक्स टॉप में मौजूद होता है। यह एक कॉमन डबल डोर फ्रिज है जो बाजार में आसानी से उपलब्ध है।

बॉट्म माउंट रेफ्रिजरेटर

बॉट्म माउंट रेफ्रिजरेटर में फ्रिजर बॉक्स निचले भाग में पाया जाता है। लोगों का मानना है कि लोग फ्रिज के मेन हिस्से का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं इसलिए इसे ऊपर रखा गया है। वहीं, फ्रिजर बॉक्स का इस्तेमाल कम किया जाता है इसलिए यह हिस्सा नीचे की तरफ दिया जाता है।

ट्रिपल डोर/मल्टी डोर रेफ्रिजरेटर्स

मल्टी डोर रेफ्रिजरेटर्स में दो से ज्यादा बॉक्स बने होते हैं जिसमें एक डोर फ्रिजर के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। एक कॉमन या मेन डोर होता है जबकि एक डोर का इस्तेमाल सब्जियों और फलों को सुरक्षित रखने के लिए होता है। मेन डोर के मुकाबले अन्य डोर में ज्यादा कूलिंग कैपेसिटी दिया जाता है।

साइड बाई साइड रेफ्रिजरेटर्स

आजकल साइड बाई साइड रेफ्रिजरेटर्स का भी इस्तेमाल किया जाने लगा है। इसका लुक अलमारी की तरह होता है। दरवाजे दोनों तरफ से खुलते हैं और इस फ्रिज की सबसे खास बात यह है कि इसे आप बड़े परिवार के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। इसकी क्षमता 550 लीटर से ज्यादा होती है। साथ ही कुछ फ्रिज में वाटर डिस्पेंसर यूनिट दिया जाता है। आपको पानी के लिए फ्रिज का दरवाजा नहीं खोलना होता है। आप बाहर से ही इस डिस्पेंसिग यूनिट से ही पानी को निकाल सकते हैं। ज्यादा क्षमता होने की वजह से यह बात साफ है कि अन्य रेफ्रिजरेटर्स के मुकाबले इस रेफ्रिजरेटर में बिजली की खबत ज्यादा होती है।

कौन सा फ्रिज चुनें?

किसी भी फ्रिज को चुनने के लिए आपको सबसे पहले अपने परिवार के साइज और बजट को ध्यान में रखना पड़ता है। इसके साथ ही आपको यह भी ध्यान रखना होता है कि किस फ्रिज में कम मैनटेनेंस का खर्च बैठता है। बिजली के बिल से बचने के लिए आपको स्टार रेटिंग का भी ध्यान रखना होता है। 5 स्टार रेटिंग वाला फ्रिज सबसे कम बिजली की खपत करता है लेकिन इस फ्रिज की कीमत ज्यादा हो सकता है। इसलिए फ्रिज की कीमत और स्टार रेटिंग को ध्यान में रखकर 3-स्टार रेटिंग वाले फ्रिज बेहतर ऑप्शन हो सकता है। 

यह भी पढ़ें:

OnePlus 6T और Poco F1 को 16000 रुपये तक के ऑफर के साथ खरीदने का मौका, पढ़ें ऑफर्स

Google Pixel 3 और Pixel 3 XL की भारत में बिक्री शुरू, पढ़ें लॉन्च ऑफर्स

Xiaomi दिवाली सेल: Redmi Note 5 Pro से Poco F1 तक इन स्मार्टफोन्स पर मिल रहे ऑफर

Posted By: Harshit Harsh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप