नई दिल्ली(टेक डेस्क)। फेसबुक ने डाटा चोरी मामले के बाद अपनी पहली कार्यवाही के रूप में 200 एप्स को निष्कासित कर दिया है। कंपनी ने इस बात की जानकारी नहीं दी है की ये 200 एप्स कौन-सी थीं। इन एप्स के पास बड़ी तादात में यूजर डाटा का एक्सेस था। मार्क जुकेरबर्ग ने 21 मार्च को जांच-पड़ताल करने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था की सोशल नेटवर्क उन सभी एप्स की जांच करेगा जिनके पास बड़ी तादात में यूजर डाटा उपलब्ध है।

दो चरणों में होगी जांच: डाटा चोरी का मामला सामने आने के बाद फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने एक-एक एप की गहन पड़ताल करने का वादा किया था। इसका मकसद उपभोक्ताओं तक इनकी पहुंच घटाना था। फेसबुक के उत्पाद साझेदारी उपाध्यक्ष इम आर्किबोंग ने ब्लॉग लिखकर बताया कि जांच का काम पूरे रफ्तार से चल रहा है। यह काम दो चरणों में किया जाएगा।

पहले चरण में फेसबुक डाटा तक पहुंच रखने वाले एक-एक एप की गहन जांच की जा रही है। दूसरे चरण के तहत जहां हमें संदेह होगा, हम पूछताछ करेंगे। एप, उसके पास मौजूद डाटा और उसकी पहुंच को लेकर विस्तृत सवाल-जवाब किए जाएंगे। उन्होंने कहा की किसी भी एप के खिलाफ डाटा दुरुपयोग के सबूत मिलने पर उन्हें प्रतिबंधित कर दिया जाएगा। इसकी जानकारी लोगों को वेबसाइट के माध्यम से दी जाएगी। उन्होंने कहा की यूजर्स के डाटा का गलत इस्तेमाल करने वाली एप्स का पता लगाने के लिए अभी काफी काम करने की जरुरत है और इस प्रक्रिया में समय लगेगा।

यह भी पढ़ें: 

लैपटॉप बेचने से पहले जरूर कर लें ये काम, नहीं होगी परेशानी

Reliance Jio Vs Airtel Vs Vodafone Vs Idea: इन प्लान्स में हर रोज मिल रहा है 3 से 5 जीबी डाटा

अब अपने स्मार्टफोन पर देखें EPF अकाउंट बैलेंस, ये हैं 7 आसान तरीके

सचिन से कोहली तक, जानिए कौन सा खिलाड़ी करता है किस ब्रैंड के फोन का इस्तेमाल

फ्लिपकार्ट-अमेजन सेल में ग्राहकों की चांदी, इन स्मार्टफोन्स पर मिल रही है भारी छूट

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021