मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली(टेक डेस्क)। MIT कंप्यूटर साइंस एंड इंटेलिजेंस लेबोरेटरी में एक ऐसे सिस्टम को बनाया गया है जो इंसानों के शरीर को दीवार के आर-पार भी देख सकता है। यानी जब आप किसी दीवार के पार बैठे होंगे तब यह तकनीक आपके बैठने, चलने और खड़े होने के हिसाब से यह बाकी के अंगों को अपनी तरह से डिजाइन करता है।

आसान भाषा में समझे तो मान लीजिए कि आपका दोस्त दीवार के पार बैठा है। आप उसे खिड़की के जरिए देख पा रहे हैं, लेकिन आप अपने दोस्त के सिर्फ सीने तक के हिस्से को ही देख पा रहे हैं, ऐसे में इस तकनीक के बाद आप अपने दोस्त के पैरों के हरकत को दीवार के पार भी देख सकते हैं।

दरअसल यह तकनीक इंसानों से निकलने वाले रेडियो फ्रिक्वेंसी वेव का इस्तेमाल करती है और इससे शरीर के सभी हरकतों को नोटिस करती है।

शोधकर्ताओं ने इंसानों के शरीर से निकलने वाले रेडियो सिग्नल को न्यूरल नेटवर्क के जरिए एनालिसिस किया। इसके बाद डायनेमिक स्टीक के जरिए शोधकर्ताओं ने पता लगाया कि दीवार के दूसरी तरफ खड़ा व्यक्ति क्या कर रहा है। दरअसल इंसानों के शरीर के हर अंग से रेडियो वेव निकलता है। अगर किसी भी व्यक्ति का आधा शरीर दिख रहा है तो यह तकनीक शरीर के बाकी हिस्से से निकलने वाले रेडियो वेव के आधार पर बताता है कि उनमें क्या हरकत हो रही है। यानी अगर सामने बैठा व्यक्ति अपना पैर हिलाता है तो रेडियो वेव के जरिए यह तकनीक पैर की मूवमेंट का पता लगाता है।

शोधकर्ताओं की तरफ से बताया गया है कि इस तकनीक का इस्तेमाल Parkinson और Multiple Sclerosis जैसी बिमारियों का पता लगाने में मदद मिलेगी।

शोधकर्ताओं की तरफ से बताया गया कि इस तकनीक को बनाने के पीछे स्वास्थ्य और बिमारियों से लड़ने जैसी सोच शामिल थी। उनका कहना है कि यह भविष्य की तकनीक को बयां करता है। शोधकर्ताओं के मुताबिक इस तकनीक का इस्तेमाल सुरक्षा के लिए भी किया जा सकता है। इस तकनीक की मदद से किसी भी व्यक्ति की मूवमेंट को ट्रैक किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें:

इन 5 गलतियों के चलते हैक हो सकता है आपका सोशल मीडिया अकाउंट

DSLR पर भारी हैं ये 4 एक्शन कैमरा, पानी के 10 मीटर अंदर तक करते हैं 4K रिकॉर्डिंग

iPhone X जैसा फेस अनलॉक फीचर दे रहे हैं ये 6 स्मार्टफोन्स, कीमत 15000 रुपये से कम 

Posted By: Shridhar Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप