नई दिल्ली (टेक डेस्क)। हम सभी अपने स्मार्टफोन्स में कई ऐप्स का इस्तेमाल करते हैं। आप में से लोग TikTok, UC Browser और ShareIt जैसी चाइनीज ऐप्स का इस्तेमाल भी करते होंगे। ये ऐप्स आपके निजी डाटा का एक्सेस मांगती हैं। क्या आप जानते हैं कि इन ऐप्स को एक्सेस देना कितना खतरनाक साबित हो सकता है। खासतौर से तब जब ये ऐप्स ऐसी जानकारियां मांगती हैं जिसकी कोई जरुरत ही नहीं है। इंफॉर्मेशन सिक्योरिटी फर्म Arrka Consulting ने इस मामले को लेकर एक रिसर्च की जिसमें बताया गया कि चीन की डिजिटल ऐप्स भारतीय यूजर्स से जरुरत से ज्यादा निजी जानकारियां मांग रही हैं।

विदेशी एजेंसियों को दिया जाता है डाटा:

इस रिपोर्ट में बताया गया है कि चीनी ऐप्स द्वारा मांगी जाने वाली जानकारियां विदेशी एजेंसियों को दी जाती हैं। ये ऐप्स ही इन जानकारियों को ट्रांसफर करती हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, इनमें Helo, Shareit, TikTok, UC Browser, Vigo Video, Beauty Plus, Club factory Everything, News-Dog, UC news और VMate शामिल हैं। आपको बता दें कि ये सभी ऐप्स यूजर्स से माइक्रोफोन का भी एक्सेस मांगती हैं। साथ ही कैमरा का एक्सेस भी कई ऐप्स द्वारा मांगा जाता है। निजी डाटा के नजरिए से यह मामला काफी संवेदनशील है।

Arrka Consulting के को-फाउंडर संदीप राव के मुताबिक, दुनिया भर की करीब टॉप 50 और चीन की करीब 10 डिजिटल ऐप्स यूजर्स से 45 फीसद ज्यादा जानकारी मांगती हैं। बताया जा रहा है कि ये ऐप्स यूजर्स के निजी डाटा को 7 विदेशी एजेंसियों को ट्रांसफर कर रही हैं। इनमें से 69 फीसद डाटा अमेरिका को दिया जा रहा है। इसके अलावा बताया गया है कि TikTok का डाटा चीनी टेलिकॉम कंपनियों को भेजा जा रहा है। वहीं, Vigo Video, Beauty Plus और Tencent co का डाटा Meitu के भेजा जा रहा है। इसके साथ ही UC Browser अपना डाटा अपनी मदर कंपनी अलीबाबा को भेज रही है।

यह भी पढ़ें:

WhatsApp हुआ डाउन, यूजर्स ने Twitter पर दिए कुछ ऐसे Reactions

Honor View 20 Hole Punch Selfie कैमरा डिजाइन के साथ किया गया लॉन्च, जानें कीमत

WhatsApp Dark mode का पहला लुक आया सामने, एंड्रॉइड प्लेटफॉर्म पर जल्द होगा पेश 

Posted By: Shilpa Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस