Move to Jagran APP

Swapna Shastra: सपने में घोडा देखना शुभ या अशुभ? जानिए क्या कहता है स्वप्न शास्त्र

सपने में घोडा देखना अच्छा माना जाता है। इससे इंसान को जीवन में धन की प्राप्ति होने के संकेत मिलते हैं। अगर आपने कभी सपने में घोडा देखा है तो क्या आप जानते हैं कि इससे जीवन में किस तरह के संकेत मिलते हैं? अगर नहीं पता तो आइए इस आर्टिकल में जानते हैं कि सपने में घोडा देखने से किस तरह के संकेत मिलते हैं।

By Kaushik Sharma Edited By: Kaushik Sharma Published: Tue, 11 Jun 2024 12:22 PM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 12:22 PM (IST)
Swapna Shastra: सपने में घोडा देखना शुभ या अशुभ? जानिए क्या कहता है स्वप्न शास्त्र (Pic Credit -Freepik)

धर्म डेस्क, नई दिल्ली। Sapne Me Ghoda Dekhna: सनातन धर्म में स्वप्न शास्त्र का बेहद खास महत्व है। कुछ सपने इंसान के जीवन के लिए शुभ और कुछ अशुभ माने जाते हैं। स्वप्न शास्त्र के अनुसार, सपने में घोडा देखना बेहद अच्छा माना जाता है। हर सपने का कोई न कोई अर्थ जरूर होता है। ऐसा माना जाता है कि सपने भविष्य में होने वाली घटनाओं के बारे में संकेत देते हैं।

यह भी पढ़ें: Bada Mangal 2024: बड़े मंगल पर हनुमान जी को नहीं करना चाहते नाराज, तो ध्यान रखें ये बातें

मिलते हैं ये संकेत

  • स्वप्न शास्त्र की मानें तो सपने में घोड़े की फोटो को देखना बेहद शुभ माना गया है। इससे इंसान के मान सम्मान में वृद्धि होती है। साथ ही समाज में ऊंचा दर्जा मिलता है।
  • अगर आप सपने में घुड़सवारी कर रहे हैं, तो इस सपने का मतलब यह है कि आपको कार्यों में सफलता प्राप्त होने वाली है। साथ ही आप लक्ष्य को पूरा करने वाले हैं। यह सपना तरक्की की तरफ इशारा करता है।
  • सपने में दौड़ते हुए घोड़े को देखना उत्तम माना जाता है। इस सपने का मतलब है यह है कि आप जल्द ही किसी यात्रा की प्लानिंग करने वाले हैं और धन की प्राप्ति होगी।

  • अगर आपने सपने में पंखों वाले घोड़े को उड़ते हुए देखा है, तो इससे घर में शुभ और मांगलिक कार्य होने के योग बनते हैं।
  • सपने में किसी बीमार या घायल घोड़े को देखने से आपको सतर्क होने की जरुरत है। ऐसा माना जाता है कि इस तरह के सपने देखने से आपको अपनी हेल्थ को लेकर सावधान रहने की आवश्यकता है।

यह भी पढ़ें: Shivling Ke Upay: शिवलिंग पर अर्पित करें एक यह चीज, सभी मुसीबतों से मिलेगा छुटकारा

अस्वीकरण: ''इस लेख में बताए गए उपाय/लाभ/सलाह और कथन केवल सामान्य सूचना के लिए हैं। दैनिक जागरण तथा जागरण न्यू मीडिया यहां इस लेख फीचर में लिखी गई बातों का समर्थन नहीं करता है। इस लेख में निहित जानकारी विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों/दंतकथाओं से संग्रहित की गई हैं। पाठकों से अनुरोध है कि लेख को अंतिम सत्य अथवा दावा न मानें एवं अपने विवेक का उपयोग करें। दैनिक जागरण तथा जागरण न्यू मीडिया अंधविश्वास के खिलाफ है''।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.