Guru Pushya Nakshatra: हिंदू धर्म में खरीदारी करने के लिए सबसे शुभ दिन धनतेरस और दीपावली को माना जाता है। लेकिन इस बार नक्षत्रों की स्थिति ने दीपावली के पहले आज खरीदादारी करने के बहुत शुभ मुहूर्त का निर्माण हो रहा है। ज्योतिषशास्त्रियों के अनुसार आज अत्यंत शुभ गुरू पुष्य नक्षत्र का निर्माण हो रहा है।जिसे नक्षत्रों का राजा कहा जाता है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार गुरू पुष्य नक्षत्र के इस विशिष्ट संयोग में खरीदारी करना, कोई भी नया कार्य शुरू करना अक्षय फल प्रदान करता है। आइए जानते हैं गुरू पुष्य नक्षत्र के संयोग और मुहूर्त के बारे में....

गुरू पुष्य नक्षत्र का विशिष्ट संयोग

ज्योतिषशास्त्र में पुष्य नक्षत्र को नक्षत्रों का राजा माना जाता है। गुरूवार के दिन पुष्य नत्रक्ष के संयोग को गुरू पुष्य नक्षत्र कहा जाता है। ज्योतिष गणना के अनुसार गुरू पुष्य नक्षत्र का योग आज, 28 अक्टूबर को 09 बजकर 41मिनट से प्रारंभ हो कर 29 अक्टूबर को 11 बजकर 38 मिनट तक रहेगा। इसके साथ इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग, अमृत सिद्ध योग और रवि योग का भी निर्माण हो रहा है। इस योग में खरीदारी करना, कोई भी नया कार्य शुरू करना बहुत लाभदायक है। पुष्य नक्षत्र का गुरू के साथ संयोग होने के कारण इस नक्षत्र में सोना खरीदना अत्यंत शुभ है।

क्या खरीदना होगा शुभ

गुरू पुष्य नक्षत्र का स्वामी शनि और देवता गुरू माने जाते हैं, इसके साथ ही इस पर चंद्र का प्रभाव होने के कारण सोना,चांदी और लोहे के सामान खरीदना सबसे शुभ होगा। इस नक्षत्र में आप गहने, बर्तन, वाहन या मकान आदि खरीद सकते हैं। इसके साथ ही इस नक्षत्र में नये कार्य शुरू करना या धन निवेश करना बहुत लाभदायक होता है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस नक्षत्र में घर निर्माण कराना शुभ होगा।

डिस्क्लेमर

''इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना में निहित सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्म ग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारी आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना के तहत ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।''

 

Edited By: Jeetesh Kumar