अजमेर, (जेएनएन)। अजमेर दौरे पर आए प्रदेश के शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी व दीनदयाल उपाध्याय व वीर सावरकर पर की बयानबाजी को लेकर प्रदेश के पूर्व शिक्षा राज्यमंत्री एवं अजमेर उत्तर विधायक वासुदेव देवनानी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि देश महापुरुषों पर कांग्रेस के मंत्री द्वारा उठाए गए सवाल कांग्रेस की एक ओछी मानसिकता का परिचायक है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस राजस्थान बोर्ड पाठयक्रमों से छेड़छाड़ करती है तो जन आंदोलन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को तो बालिकाओं को वितरित साइकिलों के भगवा रंग से भी ऐतराज हो रहा है वह उसे हरा करने जा रही है।

भाजपा विधायक वासुदेव देवनानी ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी ने देश को एक परमाणु शक्ति बनाया और कारगिल का युद्ध जीता और देश में सड़कों को जाल बिछाया , उनके योगदान को देखते हुए वाजपेयी को भारत रत्न से नवाजा गया था और पंडित दीनदयाल उपाध्याय जो कि राजनीतिक दल के संस्थापक नहीं रहे हैं, वरन एक महान चितंक व दाशर्निक व्यक्तित्व के धनी थे, उनकी सादगी व विचारों को देश ने सराहना की गई, जबकि इस तरह के विचारक गांधी परिवार में पैदा ही नहीं हुए, क्योंकि कांग्रेस एक ही परिवार की पूजा करती आई है।

महापुरुषों के पाठ्यक्रमों को जोड़ने के सवालों पर उन्होंने कहा कि सुभाष चन्द्र बोस, वीर सावरकर, अम्बेडकर, हेमूकालानी व महाराजा सूरजमल को जोड़ा सहित 200 वीर वीरांगनाओं को जोड़ा है, कांग्रेस यह बताए कि इनमें कौनसे महापुरुषों का देश के प्रति योगदान नहीं है। उन्होंने शिक्षा मंत्री को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि इस तरह की बयानबाजी से बाज आना चाहिए। शिक्षा मंत्राी को चाहिए की वे शिक्षा की ओर ध्यान दे इस पर राजनीति न करें तो अच्छा रहेगा। देवनानी ने कहा कि कांग्रेस सरकार बार बार यह कह रही है कि पाठ्यक्रम की समीक्षा करेंगे जबकि कांग्रेस को महाराणा प्रताप को देशभक्त कहने में आज भी संकोच महसूस हो रहा है।

देवनानी ने कहा कि भाजपा सरकार पर जो तबादला उद्योग पनपाने का आरोप लगाया है वह सही नहीं है, क्योंकि तबादला उद्योग तो कांग्रेस की सरकार से ही पनपा था, हमारी सरकार में तो शिक्षा नीति के तहत एवं काउसलिंग सिस्टम करके पारदर्शिता बरती गई, जबकि कांग्रेस राज में शिक्षा मंत्री रहे मास्टर भंवर लाल मेघवाल पर गंभीर आरोप लगे, जिसके चलते उन्हे पद से हटाना पड़ा और कांग्रेस 150 सीटों से 21 सीटों पर सिमट गई।

कांग्रेस साइकिल का कलर बदलने की बात कर रही है वह यह स्पष्ट करे की क्या साइकिल का रंग भगवा से हरा करने जा रही है, जबकि उन्होंने कहा कि भगवा रंग तो देश भक्ति का परिचायक है। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के बारे में उन्होंने कहा कि आरएसएस शुद्ध रूप से देशभक्त, सामाजिक और सांस्कृतिक संगठन है, देवनानी ने कहा कि 1962 के संकट के समय आई आपदा में आरएसएस ने अहम भूमिका निभाई थी, उसकी इस भूमिका को देखते हुए पूर्व पीएम जवाहर लाल नेहरू ने संघ को परेड में भी आमंत्रित किया गया है। 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप