संवाद सूत्र, उदयपुर। पूर्व सपा नेता और उत्तर प्रदेश से राज्यसभा सदस्य अमर सिंह उदयपुर के चावंड में महाराणा प्रताप की समाधि स्थल पर लड़खड़ाकर गिर पड़े। साथी लोगों ने उन्हें संभाला। अमर सिंह यहां महाराणा प्रताप की 421 वीं पुण्यतिथि पर प्रताप को नमन करने पहुंचे थे। उनके समाधिस्थल पर गिरने का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।

जानकारी के अनुसार, सांसद अमर सिंह जैसे ही महाराणा प्रताप की समाधि स्थल पर पहुंचे, तब वह फिसलते हुए जमीन पर गिर पड़े। पास ही मौजूद ग्रामीणों एवं उनके साथियों ने उनको संभाला और उठाया। इसके बाद अमर सिंह ने महाराणा प्रताप की समाधि पर पुष्पांजलि अर्पित की। अमरसिंह शनिवार सुबह चार्टर विमान से उदयपुर पहुंचे तथा यहां अपने मित्र मनोहरसिंह कृष्णावत के घर पर ठहरे थे। चावंड जाने के बाद वह उदयपुर से रवाना हो गए।

मायावती-अखिलेश का गठबंधन बुआ-बबुआ का मेल

अपनी उदयपुर यात्रा के दौरान हुई बातचीत में उन्होंने उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी एवं समाजवादी पार्टी के गठबंधन का बुआ और बबुआ का गठबंधन करार दिया। उन्होंने कहा कि यह मायावती और अखिलेश यादव का गठबंधन है। इसमें समाजवादी नेता मुलायम यादव की सहमति नहीं है। उनकी निगाह में समाजवादी के नेता मुलायम सिंह हैं। उन्होंने यह भी कहा कि बुआ और बबुआ के गठबंधन से भाजपा को ज्यादा नुकसान नहीं होने वाला।

उन्होंने खुद के भाजपा में शामिल होने के सवाल पर कहा कि यह तो भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तय करना है। उन्हें राष्ट्रवादी नेता पसंद हैं जो नरेंद्र मोदी हैं। उन्होंने कहा कि महाराणा प्रताप महान क्षत्रिय राजा थे और वे खुद भी क्षत्रिय हैं और उन महान व्यक्तित्व के चरणों की धूल जिस धरा पर है वहां आना उनके लिए गौरव की बात है।

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप