Move to Jagran APP

Punjab News: भोला ड्रग्स मामले में ED की 13 जगहों पर छापेमारी, अब तक 3.5 करोड़ रुपये कैश बरामद

पंजाब के रूपनगर (रोपड़) में प्रवर्तन निदेशालय ने 13 जगहों पर छापेमारी की। ईडी अधिकारी ने कहा कि जब्त की गई जमीन पर और रोपड़ जिले के आसपास के इलाके में अवैध खनन का काम किया जा रहा था। अब तक तलाशी के दौरान तीन करोड़ रुपये की नगदी बरामद हो चुकी है। मामले में शामिल लोगों में नसीबचंद (खनन माफिया) श्री राम स्टोन क्रशर और अन्य शामिल हैं।

By Jagran News Edited By: Deepak Saxena Published: Wed, 29 May 2024 10:34 AM (IST)Updated: Wed, 29 May 2024 10:40 AM (IST)
रूपनगर में 13 जगहों पर ED की छापेमारी।

एजेंसी, रूपनगर। भोला ड्रग्स मामले से जुड़ी जांच में ईडी ने खनन ठिकानों पर छापेमारी की। प्रवर्तन निदेशालय ने बुधवार को मुख्य आरोपी जगदीश सिंह उर्फ ​​भोला से जुड़े मादक पदार्थों से जुड़े धन शोधन मामले के तहत पंजाब में कई स्थानों पर तलाशी ली। सूत्रों ने बताया कि रूपनगर जिले में कुल 13 परिसरों की तलाशी ली जा रही है, क्योंकि यह पाया गया कि भोला मामले में ईडी द्वारा पहले जब्त की गई जमीन पर अवैध खनन किया जा रहा था।

ईडी अधिकारी ने बताया कि जब्त की गई जमीन पर और रूपनगर (रोपड़) जिले के आस-पास के इलाके में अवैध खनन किया जा रहा था। कुख्यात भोला ड्रग मामले में ईडी ने इस जमीन को जब्त किया था। भोला ड्रग केस मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम अधिनियम की विशेष अदालत के समक्ष सुनवाई के महत्वपूर्ण चरण में है।

ये भी पढ़ें: Lok Sabha Election 2024: गजब है ये प्रत्याशी! पंजाब में लड़ रहे चुनाव, कनाडा से प्रचार; जानिए क्या हैं इनके मुद्दे

इस कथित अवैध खनन मामले में कुछ आरोपियों में नसीबचंद और श्री राम क्रशर शामिल हैं। उन्होंने बताया कि तलाशी के दौरान अब तक करीब 3 करोड़ रुपये नकद जब्त किए गए हैं। ड्रग्स मनी लॉन्ड्रिंग का मामला करोड़ों रुपये के सिंथेटिक नारकोटिक्स रैकेट से जुड़ा है, जिसका पंजाब में 2013-14 के दौरान पता चला था।

ईडी ने पंजाब पुलिस द्वारा दर्ज एफआईआर के आधार पर मामला दर्ज किया था। इस मामले को आमतौर पर भोला ड्रग केस के नाम से जाना जाता है, क्योंकि इसमें कथित किंगपिन, पहलवान से पुलिसवाला और फिर "ड्रग माफिया" बने जगदीश सिंह उर्फ ​​भोला की पहचान की गई है। भोला को जनवरी 2014 में ईडी ने गिरफ्तार किया था और यह मामला वर्तमान में पंजाब में धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत विशेष अदालत में सुनवाई के लिए है।

ये भी पढ़ें: Punjab Weather: बठिंडा में 50 डिग्री के पास पहुंचा तापमान, गर्मी से लोगों के हाल-बेहाल; इस महीने नहीं मिलेगी राहत


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.