जागरण संवाददाता, पटियाला: सोमवार से शारदीय नवरात्र शुरू होने जा रहे हैं। इसे लेकर सभी मंदिरों में कमेटियों ने तैयारियां पूरी कर ली हैं। उत्तर भारत के प्रसिद्ध श्री काली देवी मंदिर में नवरात्र को लेकर सारी तैयारियां और मंदिर की सजावट मुकम्मल कर ली गई हैं। इस बार मां का दरबार नकली फूलों के बजाय असली फूलों से महकेगा। रोजाना सुबह तीन बजे से मां के दरबार की सजावट होगी।

मंदिर में प्रवेश द्वार पर भी सजावटी व दूसरी लाइटिंग का प्रबंध किया गया है। राज राजेश्वरी माता, बजरंग बली व बाबा भैरोनाथ जी की मूर्तियों के शृंगार के अलावा गहने पालिश करवाकर माता जी को पहनाए गए हैं। मंदिर प्रशासन एक कंट्रोल रूम भीतर बनाएगी, जिसमें लोग अपनी शिकायत अथवा अन्य किसी भी तरह की समस्या के बारे में बता सकते हैं। निगम की तरफ से फायर ब्रिगेड वाहन सहित पानी का टैंकर बाहर खड़ा किया जाएगा।

श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए जरूरी इंतजाम

मंदिर के बाहर समाज सेवी संस्थाएं लंगर के स्टाल लगाएंगी। मंदिर प्रशासन ने आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए जरूरी इंतजाम किए हैं। इसके तहत श्रद्धालु सुबह पांच बजे से रात दस बजे तक मां के दर्शन कर सकेंगे। सुरक्षा के लिए करीब 125 निजी सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है। इसके अलावा पुलिस बल को भी मंदिर के नजदीक तैनात किया गया है, ताकि किसी अप्रिय घटना से बचाव रहे।

साथ ही पीने के पानी की व्यवस्था के लिए नए वाटर कूलर लगवाए जा रहे हैं। साफ-सफाई की व्यवस्था में सुधार किया गया है। मंदिर में नवनिर्मित पार्किंग की तीन मंजिलें कार और स्कूटर पार्किंग के लिए खोली जाएंगी। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए स्वच्छ अस्थाई शौचालय की व्यवस्था भी की गई है। मंदिर के भीतर तीनों टाइम श्रद्धालुओं के लिए लंगर की व्यवस्था भी की गई है।

यह भी पढ़ेंः- Navratri 2022: नवरात्र के पूरे 9 दिन रख रहे हैं व्रत तो ऐसे रखें सेहत का ख्याल, डाइट में शामिल करें ये चीजें

Edited By: Gaurav Sood

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट