जागरण संवाददाता, लुधियाना। Weather Forecast Punjab: पंजाब में फिलहाल बारिश के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। लोगाें काे अभी स्मॉग की मार झेलनी हाेगी। इस बार नवंबर में बारिश बहुत कम हुई है। दीपावली पर चले पटाखों और किसानों की तरफ से जलाई जा रही पराली की वजह से वातावरण में एक तरह से चेंबर बना हुआ है। पल्यूटेट पार्टिकल्स के हवा में तैरने की वजह से आसमान में धुंधलापन दिखाई दे रहा है। हवा में घुले प्रदूषण के जहर की वजह से घुटन महसूस हो रही है और लोग हांफने लगे है। एक्यूआइ लगातार खराब श्रेणी में चल रहा है। 

मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो अब बारिश ही इस बिगड़े मौसम को ठीक कर सकती है। बारिश हो तो स्मॉग से राहत मिल जाएगी। इंडिया मेट्रोलॉजिकल डिपार्टमेंट चंडीगढ़ के पूर्वानुमान की मानें तो दिसंबर में मौसम करवट ले सकता है। बारिश का सूखा खत्म हो सकता है। विभाग के अनुसार एक दिसम्बर को पंजाब में बादल छाए रहेंगे और हल्की बारिश हो सकती है। बारिश होती है तो हवा में तैर रहे प्रदूषण के कण धूल कर जमीन पर आ जाएंगे, जिससे हवा की गुणवत्ता में काफी सुधार आ जाएगा।

यह भी पढ़ें-ED Raid In Punjab: पंजाब में फास्टवे केबल के मालिक समेत 8 ठिकानों पर ईडी के छापे, सुबह से टीम खंगाल रही दस्तावेज

बारिश के बाद ठंड भी एकाएक बढ़ जाएगी

बारिश के बाद ठंड भी एकाएक बढ़ जाएगी। क्योंकि दिन व रात के तापमान में दो-तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट आएगी। वहीं हल्की बारिश से फसलों को भी फायदा होगा। अब देखते हैं कि मौसम विभाग का पूर्वानुमान सही साबित होता है या मौसम दगा देकर लोगों की मुश्किलें बढ़ाएगा। हालांकि इस साल मानसून जमकर बरसा है और फसलाें की पैदावार भी बंपर हुई है। गेहूं की बिजाई के समय अगर बारिश हाेती है ताे किसानाें काे फायदा हाेगा।

यह भी पढ़ें-लुधियाना के इंडस्ट्रियल इलाकों में पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन चाहते है कारोबारी, परिवहन मंत्री से जल्द करेंगे मुलाकात

Edited By: Vipin Kumar