जागरण संवाददाता, बठिंडा। Farmers Protest: पंजाब में किसानों के प्रदर्शन के चलते अदाणी ग्रुप (Adani Group) के लुधियाना स्थित लाजिस्टिक पार्क और फिरोजपुर स्थित साइलो प्लांट (Silo Plant) बंद होने के बाद अब एक अन्य बड़ी कंपनी वालमार्ट (wallmart) ने बठिंडा (Bhatinda) में अपना बेस्ट प्राइज स्टोर बंद करने का फैसला किया है। अदाणी ग्रुप (Adani Plant)के दोनों प्लांट बंद होने से जहां 800 लोग सीधे तौर पर बेरोजगार (Unemloyed) हो गए हैं। वहीं, इस स्टोर के बंद होने से यहां पर काम करने वाले करीब 200 मुलाजिमों की नौकरी (Job) पर संकट खड़ा हो गया है।

एक अक्टूबर 2020 से धरना लगाकर स्टाेर के बाहर बैठे हैं किसान

स्टोर के बाहर किसान एक अक्टूबर 2020 से धरना लगाकर बैठे हैं। स्टोर बंद होने का सीधा असर यहां काम करने वाले कर्मचारियों के अलावा उन लोगों पर पड़ेगा जोकि अपने व्यवसाय के लिए इस स्टोर पर निर्भर थे। बठिंडा में कंपनी का 50 हजार वर्गफुट का होलसेल स्टोर है। जहां से छोटे दुकानदार अपनी दुकानों के लिए सामान लेकर जाते थे, लेकिन किसानों के धरने के कारण स्टोर को करोड़ों रुपये का नुकसान होने के कारण इसे बंद करने का फैसला लिया गया है।

पंजाब में ई-कामर्स के जरिये काम करेगा वालमार्ट

उधर, स्टोर बंद करने के बाद कंपनी की ओर से पंजाब में ई-कामर्स के द्वारा काम करने के प्रयास किए जा रहे हैं। इसके लिए कंपनी की ओर से राज्य में एक उपयुक्त स्थान की तलाश की जा रही है जहां पर नया गोदाम खोल आनलाइन आर्डर करने वालों को सप्लाई दी जाएगी।स्टोर में वर्तमान में 200 से अधिक कर्मचारी हैं, लेकिन उनमें से कई अपनी नौकरी खो सकते हैं।

यह भी पढ़ें-पंजाब में लालच देकर मतांतरण का आरोप, हिंदू संगठनाें ने ईसाई समुदाय के कार्यक्रम काे कराया बंद; जानें मामला

 

स्टोर के बंद होने से अन्य व्यवसायों पर भी पड़ेगा असर

यही नहीं स्टोर के बंद होने से अन्य व्यवसायों पर भी प्रभाव पड़ेगा, जो प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से वालमार्ट स्टोर को सामान की आपूर्ति कर रहे थे। बीकेयू उगराहां के अध्यक्ष जोगिंदर सिंह ने कंपनी को कर्मचारियों की छंटनी के खिलाफ चेतावनी दी है। बीकेयू के अध्यक्ष ने कहा कि अगर कर्मचारियों की छंटनी करते हैं तो वह कंपनी के एक भी स्टोर को पंजाब में नहीं चलने देंगे।

यह भी पढ़ें-Punjab Roadways Contractual Staff Strike: हड़ताल से पहले ही सर्तक हुए यात्री, भीड़ बेहद कम; प्राइवेट बसों से सफर कर रहे यात्री

 

 

Edited By: Vipin Kumar