जागरण संवाददाता, लुधियाना। साढ़े तीन साल के कुंवर प्रताप सिंह का IQ (इंटेलिजेंस कोशेंट) देख हर कोई हैरान है। इतनी छोटी-सी उम्र में भी वह दस साल से अधिक उम्र के बच्चे जितना ज्ञान रखता है। हम बात कर रहे हैं शहर के सराभा नगर के सेक्रेड हार्ट कॉन्वेंट स्कूल में एलकेजी के छात्र कुंवर प्रताप की। उसने अपनी मेमोरी से स्कूल अध्यापकों को हैरान कर दिया है। मोहल्ले और आसपास के सभी लोग उसके ज्ञान को देख दंग हैं। वह तीस तक पहाड़े सुनाने वाला दुनिया का सबसे छोटा बच्चा है।

अध्यापकों की माने तो कुंवर प्रताप साढ़े तीन साल की उम्र में ही पांचवीं कक्षा के बच्चे जितना होशियार है। वह 40 तक के पहाड़े आसानी से सुना देता है। हर देश की राजधानी का उसे बखूबी ज्ञान है। इतना ही नहीं, वह हर नंबर, प्राइम नंबर को मल्टीप्लाई कर सकता है।

नन्हे कुंवर को किताबें पढ़ने का पैशन

कुंवर प्रताप के पढ़ने और बोलने के लहजे से उसकी बुद्धिमता साफ झलकती है। वह कठिन शब्दों को बहुत आसानी से बोलकर दूसरों तक अपनी बात पहुंचा लेता है। कुंवर जिस कॉलोनी में रहता है, वहां रहने वालों के हाउस नंबर और अन्य डिटेल उसे मुंहजुबानी याद हैं। उसने ओलंपियाड में आसानी से अटेंप्ट किया है। वह कई वर्ल्ड रिकॉर्ड बना चुका है। इसमें एशिया बुक ऑफ रिकॉर्डस भी शामिल है।

ये रिकॉर्ड्स किए अपने नाम

इंडिया और एशिया बुक ऑफ रिकॉर्डस

-1 मिनट के समय में रीकॉलिंग कर 27 मोनूमेंट्स (विश्व के ऐतिहासिक स्थलों) के बारे बता ग्रैंड मास्टर का टाइटल पाया। दूसरा, 1 मिनट में ही 14 मल्टीप्लीकेशन टेबल्स हल किए।

इंटरनेशनल बुक ऑफ रिकॉर्डस

इसमें एक से 30 तक पहाड़े सुना सबसे छोटा बच्चा बना। 48 सेकेंड्स में भारत के विभिन्न राज्यों की राजधानियों का नाम बताया। तीसरा, 23 मिनट 48 सेकेंड के समय में सबसे अधिक 27 किताबें पढ़ने वाला सबसे छोटा लड़का बना।

यह भी पढ़ें - Powercom का कारनामाः ट्रक ड्राइवर काे 2.47 लाख का बिजली बिल थमाया; शिकायत करने पर नहीं हाे रही सुनवाई

Edited By: Pankaj Dwivedi