लुधियाना, [राजीव शर्मा/मिंटू]। पंजाब पावरकाॅम (Punjab Powercom) अपनी कार्यशैली काे लेकर हमेशा चर्चा में रहता है। शहर में एक उपभाेक्ता काे बिजली बिल देने का मामला इन दिनाें सुर्खियाें में है। जमालपुर इलाके में रहने वाले ट्रक ड्राइवर सतनाम सिंह को पावरकाॅम ने 2.47 लाख रुपये का बिजली बिल भेजा है। लाखों रुपये का बिजली बिल देखकर उनके होश उड़ गए हैं। कई बार बिजली दफ्तर के चक्कर काटने पर भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

 

2.47 लाख का बिजली बिल दिखाता सतनाम सिंह। (जागरण)

अब सतनाम सिंह ने भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य जतिंदर मित्तल, भाजपा के फोकल प्वाइंट मंडल के अध्यक्ष तीर्थ तनेजा और भाजयुमो के जिला उपाध्यक्ष जतिंदर गोरियन को अपनी व्यथा सुनाई है। जब भाजपा नेता सतनाम को साथ लेकर फोकल प्वाइंट बिजली दफ्तर में एसडीओ (कमर्शियल) मानिक भनोट से मिले तो उन्होंने कहा कि इस मामले के समाधान के लिए इसे शिकायत निवारण कमेटी के पास आवेदन करना होगा।

भाजपा नेताओं का कहना है कि पावरकाॅम की गलती के कारण एक व्यक्ति दफ्तरों के चक्कर काटने को मजबूर है। उन्होंने चेताया कि अगर इस विवाद को हल नहीं किया गया तो लोग दफ्तर का घेराव करेंगे। फोकल प्वाइंट के एक्सईएन जगदीप सिंह गरचा का कहना है कि इस मामले का जल्द से जल्द हल करवाने की कोशिश करेंगे।

यह भी पढ़ें-JEE Main Examination: जेईई मेन के तीसरे चरण की परीक्षा का आज आखिरी दिन, जानें कब जारी होगी Answer key

शिकायत निवारण कमेटी से भी नहीं मिलती राहत

न्य रामनगर के रहने वाले एक अन्य उपभोक्ता बलविंदर सिंह को भी पावरकाॅम ने 1.12 लाख रुपये का बिजली बिल थमाया था। वह भी अब तक दफ्तरों के चक्कर काट रहे हैं। गोल मार्केट अर्बन एस्टेट के रहने वाले कामनी बांसल का मामला जनवरी 2021 से शिकायत निवारण कमेटी के पास है। कई बार चक्कर लगाने के बाद कोई सुनवाई नहीं हुई।

यह भी पढ़ें-Pakhowal Road RUB: चौथी बार डेडलाइन पार, लुधियाना के पक्खोवाल रोड का आरयूबी नहीं हुआ तैयार

 

Edited By: Vipin Kumar