जागरण संवाददाता लुधियाना। Food Cluster: शहर की फूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री पिछले लंबे समय फूड क्लस्टर बनाने को लेकर प्रयासरत है। लेकिन इसकी प्रक्रिया को पूरा करने के लिए लंबे अरसे से पंजाब सरकार से सस्ती जमीन को लेकर मांग की जा रही है। लेकिन इसका हल ना हो पाने के कारण लुधियाना का फ़ूड क्लस्टर अधर में है और एक्सपोर्ट से आने वाले ऑर्डरों में पंजाब फूड इंडस्ट्री की भागीदारी नहीं बढ़ पा रही है। इसी समस्या के हल को लेकर लुधियाना फूट क्लस्टर एसोसिएशन का एक प्रतिनिधिमंडल शीघ्र नवनियुक्त मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से मुलाकात करेगा और उन्हें पंजाब में फूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री की संभावनाओं को लेकर अवगत करवाएगा।

यह भी पढ़ें-Punjab Monsoon Updates: पंजाब के लुधियाना सहित कई शहराें में जमकर बरसा मानसून, जानें कैसा रहेगा अगले 2 दिन माैसम

हरसिमरत काैर के इस्तीफे के बाद अधर में याेजना

क्लस्टर के हितेश डंग ने कहा कि सरकार को वाजिब दामों पर जमीन देकर पंजाब के फूड क्लस्टर को एक नई दिशा प्रदान करनी चाहिए। इसको लेकर हरसिमरत कौर बादल ने भी वायदा किया था, लेकिन उन्होंने भी अपने पद को छोड़ दिया, जिसके बाद यह योजना अधर में लटक गई।

यह भी पढ़ें-कनाडा में NDP प्रमुख जगमीत की जीत पर बरनाला के गांव में जश्न, जानें क्यों केंद्र ने रोकी देश में एंट्री

फूड सेक्टर की ग्रोथ को लेकर की जाएगी चर्चा

अब इस मामले को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से मुलाकात कर उन्हें इस सेक्टर की ग्रोथ को लेकर चर्चा की जाएगी और उन्हें बताया जाएगा कि विदेशों में पंजाब के खाद्य उत्पादों की भारी डिमांड है। ऐसे में सरकार अगर क्लस्टर के लिए वाजिब दामों में जमीन दे तो पंजाब के फ़ूड प्रोसेसिंग उद्योग को पंख लग सकते हैं। फ़ूड प्रोसेसिंग से पंजाब के फूड सेक्टर को देश विदेश में अग्रणी किया जा सकता है। इसको लेकर केंद्र और प्रदेश दोनों सरकार से मिलकर मॉडल फूड क्लस्टर बनाने पर काम करेंगे।

यह भी पढ़ें-लुधियाना के सरकारी कालेजों में सेंट्रलाइडज पोर्टल से हो रहा दाखिला, 24 सितंबर से हो जाएगा बंद

 

Edited By: Vipin Kumar