जेएनएन, लुधियाना। पंजाब के साहनेवाल क्षेत्र के अंतर्गत कंगनवाल इलाके का युवक बाबर एक हिंदू नाबालिग को अपहरण कर अपने साथ ले गया। उसने लड़की को कई दिनों तक गुजरात से सूरत शहर में रखा और वहां उससे दुष्कर्म करता रहा। वहीं, बेटी के लापता होने पर परिवार वालों ने पुलिस में मामला दर्ज कराया। लड़की का जब पता नहीं चला तो मां ने हाई कोर्ट में गुहार लगाई। हाई कोर्ट के आदेश के बाद लड़की को सूरत से बरामद कर लिया गया। उसे 27 फरवरी 2021 को लुधियाना लाया गया। सूरत से आरोपित बाबर को भी पकड़ लिया गया है।

13 वर्षीय नाबालिग लड़की के पारिवारिक सदस्यों ने कंगनवाल पुलिस चौकी को 30 जनवरी को लड़की के लापता होने की सूचना दी थी। इसके बाद 3 फरवरी को एफआइआर नं. 22 दर्ज कर ली। बताया जा रहा है कि नाबालिग लड़की का अपहरण कर बाबर व उसकी मां उसे धोखे से गुजरात के सूरत शहर ले गए थे। वहांं, कई दिनों तक बाबर उसके साथ दुष्कर्म करता रहा। उन्होंने लड़की को बंधक बनाकर रखा।

यह भी पढ़ें: पंजाब के उद्योगपति बोले- बजट में सरकार का हो इंडस्ट्री फ्रेंडली नीतियों पर फोकस

इधर, पारिवारिक सदस्य लड़की के लापता होने से परेशान थे। उन्होंने पुलिस में शिकायत दी, लेकिन फिर भी लड़की को ढूंढने में पुलिस सफल नहीं रही। इसके बाद पारिवारिक सदस्यों ने इसकी जानकारी सनातन धर्म रक्षा मंच के मुख्य सेवादार अश्वनी को दी। इसकेे पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट में न्याय की गुहार लगाई गई। 

यह भी पढ़ें: हरियाणा में लव जिहाद कानून पर फंसा दुष्यंत चौटाला का पेंच, जताई बड़ी आपत्ति

पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने पुलिस को लड़की व अपहरणकर्ता पर पता लगाने को कहा। इस पर पुलिस ने सक्रियता दिखाई और बाबर व लड़की को सूरत से बरामद कर लिया गया। लड़की को सूरत से 27 फरवरी 2021 को लुधियाना लाया गया। साथ ही आरोपित बाबर को भी लाया गया। लुधियाना कोर्ट में नाबालिग पीड़िता के बयानों के बाद अब लड़की का सिविल अस्पताल में मेडिकल करवाया जा रहा है। पुलिस का कहना है कि मेडिकल रिपोर्ट के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। 

यह भी पढ़ें: पंजाब में भूजल के अध्ययन के लिए गठित होगी कमेटी, विधानसभा में स्पीकर ने की घोषणा