जेएनएन, जालंधर। Tokyo Olympics 2020 India Vs Great Britain Hockey Quarterfinal Match रविवार शाम भारत ने इतिहास रच दिया। टोक्यो ओलिंपिक में ब्रिटेन को क्वार्टर फाइनल में हराकर भारतीय टीम ने  41 साल बाद सेमीफाइनल में पहुंच पदक की उम्मीदों को जिंदा कर दिया है। भारत ने ग्रेट ब्रिटेन को 3-1 से करारी शिकस्त दी। इस जीत के हीरो तीन पंजाबी गबरू बने हैं। भारत की ओर से तीसरा व अंतिम गोल करके जालंधर के खिलाड़ी हार्दिक सिंह ने टीम की ऐतिहासिक जीत पर मुहर लगा दी। हार्दिक ने ये गोल 57वें मिनट (चौथा क्वार्टर) में किया। 3 अगस्त सुबह 7 बजे सेमीफाइनल में भारत का मुकाबला बेल्जियम से होगा। बता दें कि भारत ने अंतिम बार वर्ष 1980 के मास्को ओलिंपिक्स में हॉकी का स्वर्ण पदक जीता था। 

इससे पहले, अमृतसर के दिलप्रीत सिंह (Dilpreet Singh) ने 7वें और गुरजंट सिंह (Gurjant Singh) ने 16वें मिनट में 1-1 गोल करके भारत को 2-0 बढ़त दिलाई थी। तीसरे क्वार्टर में ग्रेट ब्रिटेन ने पेनाल्टी कार्नर को गोल में बदलकर अंतर 2-1 करके भारतीय हॉकी टीम के समर्थकों की धड़कने बढ़ा दी। चौधे क्वार्टर में विपक्षी टीम हावी होती दिख रही थी कि तभी हार्दिक ने अपनी स्टिक का जादू बिखेरा और टीम ने इतिहास रच दिया।   

अकेले ही गेंद लेकर विपक्षी गोल की ओर दौड़ पड़े हार्दिक

खेल के अंतिम क्वार्टर में मैच खत्म होने से तीन मिनट पहले हार्दिक को जब गेंद मिली तो वह अकेले ही विपक्षी गोल पोस्ट की ओर दौड़ पड़े। उनकी पहली हिट को गोलकीपर ने रोक लिया। किस्मत से डिफ्लेक्शन से गेद फिर से उनके पास पहुंच गई। इस बार उन्होंने अचूक निशाना साधा। सटीक और तेज हिट के आगे गोलकीपर व अन्य खिलाड़ी हक्के-बक्के रह गए। 

सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दी बधाई

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भारत की जीत पर खिलाड़ियों को बधाई दी है। उन्होंने एक ट्वीट में कहा कि उन्हें खुशी है कि तीनों गोल पंजाबी खिलाड़ियों दिलप्रीत सिंह, गुरजंट सिंह और हार्दिक सिंह ने किए हैं। कैप्टन ने टीम से स्वर्ण पदक जीतने का आह्वान किया।  

काम आया पिता का प्रोत्साहन 

शनिवार को जालंधर में हार्दिक के पिता वरिदरजीत सिंह ने कहा था कि ब्रिटेन के साथ मैच बढि़या होगा। उन्होंने बेटे हार्दिक को मनोबल के साथ मैदान में उतरने के लिए कहा था। उनका प्रोत्साहन काम कर गया और हार्दिक ने नाजुक मौके पर शानदार फील्ड गोल करके जीत भारत की झोली में डाल दी।  बता दें कि टोक्यो गई भारतीय टीम में जालंधर के 4 खिलाड़ी कप्तान मनप्रीत सिंह, मनदीप सिंह, हार्दिक सिंह और वरुण कुमार शामिल हैं।

यह भी पढ़ें - पंजाब के 'एक जिस्‍म दो जान' सोहणा-मोहणा ने किया जेई पद के लिए अप्‍लाई, दिव्‍यांगता प्रमाणपत्र पर फंसा पेंच

Edited By: Pankaj Dwivedi