Move to Jagran APP

शुभकरण सिंह के परिवार को CM मान ने दिया एक करोड़ का चेक, एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी; सौंपा नियुक्ति पत्र

21 फरवरी को खनौरी बॉर्डर पर युवा किसान शुभकरण सिंह की मौत हो गई थी जिसके बाद किसानों का रोष और तीव्र हो गया था। यही कारण रहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान किसानों ने भाजपा उम्मीदवारों का तगड़ा विरोध किया। आज सीएम मान ने शुभकरण के परिवार को एक करोड़ रुपए का चेक सौंपा है इसके साथ परिवार के एक सदस्य को नौकरी भी दी है।

By Jagran News Edited By: Prince Sharma Tue, 09 Jul 2024 01:31 PM (IST)
Punjab: शुभकरण सिंह के परिवार को चेक सौंपते सीएम मान

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। पिछले चार महीनों से शंभू बॉर्डर पर सभी फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य समेत कई मांगों को लेकर किसान धरने पर बैठे हैं। फरवरी में किसानों की सुरक्षाबलों से टकराव के बीच युवा किसान शुभकरण सिंह की मौत हो गई थी। 

आज मुख्यमंत्री मान ने उसके परिवार से मुलाकात की। इस दौरान सीएम मान ने उन्हें एक करोड़ रुपए का चेक सौंपा और परिवार के एक सदस्य को नौकरी भी दी।

— Bhagwant Mann (@BhagwantMann) July 9, 2024

सीएम भगवंत मान ने एक्स पर लिखा, किसान आंदोलन के दौरान खनौरी बॉर्डर पर गोली लगने से युवा किसान शुभकरण सिंह शहीद हो गए। शहीद किसान के परिवार से मुलाकात की...वादे के मुताबिक परिवार को 1 करोड़ रुपए का चेक दिया गया और सरकारी नौकरी के लिए नियुक्ति पत्र.. किसानों की अपनी सरकार हर दुख-सुख में किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है और खड़ी रहेगी।

खनौरी बॉर्डर पर हुई थी मौत

गौरतलब है कि दिल्ली कूच को लेकर किसानों और सुरक्षाबलों के बीच 21 फरवरी को खनौरी बॉर्डर पर टकराव हुआ। इस बीच शुभकरण सिंह की गोली लगने से जान चली गई, जिसके बाद किसानों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया।

यह भी पढ़ें- Punjab By-Election: 'आप भगत को जिताएं मैं मंत्री बनाऊंगा', चुनाव प्रचार के आखिरी दिन सीएम भगवंत मान ने मांगे वोट

संसदीय चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों का जगह-जगह घेराव करके किसानों ने अपना रोष भी जताया। मुख्यमंत्री ने किसानों से वादा किया कि सरकार शुभकरण सिंह की मौत पर परिवार को उचित मुआवजा देगी।

परिवार के एक सदस्य को दी नौकरी

आज भारतीय किसान यूनियन सिद्धूपुर की अगुवाई में मुख्यमंत्री भगवंत मान ने शुभकरण के पिता और अन्य परिजनों को मुख्यमंत्री आवास एक करोड़ रुपए की राशि का चेक सौंपा।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने एक पारिवारिक सदस्य को नियुक्ति पत्र भी सौंपा। इस मौके पर मुख्यमंत्री के स्पेशल चीफ सेक्रेटरी वीके सिंह , डीजीपी गौरव यादव , एडीजीपी इंटेलिजेंस जसकरण सिंह और कई अन्य किसान नेता भी मौजूद थे।

इस अवसर पर भारतीय किसान यूनियन के प्रधान जगजीत सिंह डल्लेवाल ने बताया कि यह बैठक रात को तय हुई थी। उन्होंने बताया कि इस बैठक के बारे में थोड़ी देर में मीडिया से बात की जाएगी।

उन्होंने यह भी बताया कि चूंकि आज की यह बैठक देर शाम तय हुई थी इसलिए कई किसान नेताओं को भी बताया नहीं जा सका।

यह भी पढ़ें- चंडीगढ़ में 'आप' को मजबूत करने वाले प्रदीप छाबड़ा का निधन, लंबे समय से चल रहे थे बीमार