Move to Jagran APP

सिखों को गुमराह करने को पाकिस्‍तान की नापाक चाल, खालिस्‍तान के नाम पर रची बड़ी साजिश

पाकिस्‍तान एक बार फिर पंजाब के सिखों को गुमराह करने के लिए नापाक चाल चल रहा है। वह खालिस्‍तान के नाम पर बड़ी साजिश रच रहा है। लोगों को इंटरनेट कॉल कर भ्रमित कर रहा है।

By Sunil Kumar JhaEdited By: Published: Mon, 15 Jun 2020 07:51 AM (IST)Updated: Mon, 15 Jun 2020 07:51 AM (IST)
सिखों को गुमराह करने को पाकिस्‍तान की नापाक चाल, खालिस्‍तान के नाम पर रची बड़ी साजिश

जालंधर, जेएनएन। पाकिस्तान ने एक बार फिर से सिखों को गुमराह करने की नापाक साजिश रचनी शुरू कर दी है। खालिस्तान के लिए चलाई जा रही मुहिम रेफरेंडम-2020 को लेकर पाकिस्तान ने इंटरनेट कॉल के जरिये लोगों को चार जुलाई से हस्ताक्षर अभियान में भाग लेने की अपील की जा रही है। पाकिस्तान द्वारा पंजाब का माहौल खराब करने की ऐसी साजिशों से निपटने को लेकर सुरक्षा एजेंसियों की चुनौती बढ़ गई है।

loksabha election banner

खालिस्तान के समर्थन में हस्ताक्षर करने के लिए पाकिस्तान से आ रहे फोन

फोन करने वाला खुद को पाकिस्तान से बोल रहा बताता है और फिर लोगों को खालिस्तान का समर्थन करने के लिए कहता है। इस फोन कॉल से लोगों के अंदर डर भी पैदा हो रहा है है। लोगों को लगता है कि 4 जुलाई से मुहिम शुरू होने के बाद कहीं माहौल खराब न हो जाए। फोन आने पर रिकार्डेड अपील सुनाई देती है।

रेफरेंडम-2020 को लेकर 4 जुलाई से मुहिम में भाग लेने की अपील

फोन करने वाला कहता है, 'खालिस्तान जिंदाबाद...सिखी नूं मनन वालयो खालिस्तान बनान लई जुलाई 4तरीक तो शुरू होन वाली रेफरेंडम-2020 मुहिम च हिस्सा लवो ताकि खालिस्तान बनाया जा सके.. जै खालिस्तान-जै पाकिस्तान।' +8647726556 नंबर से आने वाली इंटरनेट कॉल को रिसीव करते ही आवाज शुरू हो जाती है।

माहौल खराब करने की साजिश से सुरक्षा एजेंसियों की चुनौती बढ़ी

पाकिस्तान से फोन कॉल होने के कारण लोग पुलिस को शिकायत करने में भी डर रहे हैैं। लोगों लगता है कि जिन लोगों ने उनका फोन नंबर पता कर लिया है वे पुलिस को शिकायत करने पर कोई नुकसान न पहुंचा दें। नेट कॉङ्क्षलग होने के कारण इसे ट्रेस करना भी मुश्किल है। यह फोन कॉल नेट के जरिए फोन नंबर ढूंढ कर की जा रही हैं। इसमें एक साथ कई नंबरों पर  कॉल हो जाती है।

पाकिस्तान से आने वाली फोन कॉल पुलिस वालों को भी आ रही है। जानकारी के मुताबिक पुलिस मुलाजिमों से लेकर अधिकारियोंं तक के फोन में इस तरह की कॉल आई है। पुलिस ने जब इस नंबर को ट्रेस करने का प्रयास किया तो यह नेट कॉङ्क्षलग निकली, जिसे ट्रेस नहीं किया जा सकता था।

माहौल खराब नहीं होने देंगे : डीसीपी

जालंधर के डीसीपी गुरमीत सिंह ने कहा कि नेट कॉङ्क्षलग के जरिए आने वाले फोन को लोग न सुनें बल्कि उसे ब्लॉक करें। डरने की कोई आवश्यकता नहीं है। पंजाब का माहौल किसी भी हाल में खराब नहीं होने दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: हरियाणा के आइपीएस अफसरों को सुशांत के सुसाइड पर शक, प्रदेश में ADGP हैं उनके जीजा

यह भी पढ़ें: हरियाणा पछाड़ेगा पंंजाब को, गायों पर बड़ा प्रयोग हुआ सफल और अब बहेगी दूध की धारा


यह भी पढ़ें: प्रणब दा, तुस्सी ग्रेट हो, गोद लिए गांवों की चमका रहे किस्मत, फाइव एच के मंत्र से बदली तस्‍वीर

यह भी पढ़ें: Rohtak PGI ने पूर्व महिला उपराज्‍यपाल को जनरल वार्ड में रखा, निजी अस्‍पताल में मिला इलाज

यह भी पढ़ें: पिता ने 10वीं में फेल होने पर डांटा तो घर से भागे,कई रात भूखे सोए, आज तीन देशों में है कारोबार

यह भी पढ़ें: कोरोना संकट में किसान काे खूब रास आ रही अफ्रीकन तुलसी की खेती, जानें इसकी खूबियां

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.