जागरण संवाददाता, जालंधर। जालंधर में इनोसेंट हार्ट्स ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशंस के स्कूल आफ होटल मैनेजमैंट द्वारा भारतीय मिठाई के व्यंजनों पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। सेशन का संचालन होटल मैनेजमैंट विभाग के सहायक प्रोफेसर शेफ बनी अटवाल ने किया। शेफ बनी अटवाल ने कहा कि मिठाइयां हर त्यौहार का अनिवार्य हिस्सा होती है और मिठाइयों की पूरी दुनिया में काफी मांग रहती है। ऐसे में बेहतर स्वाद और क्वालिटी के जरिये ही उनकी पहचान को बनाया और बरकरार रखा जा सकता है। जिसके लिए किन-किन बातों को ध्यान रखना चाहिए इसके लिए विद्यार्थियों को भारतीय मिठाइयां बनाने की विधि का लाइव प्रदर्शन प्रदान किया गया।

यह भी पढ़ें- जालंधर पहुंचे शिअद प्रधान Sukhbir Badal, भगत सिंह की प्रतिमा को नमन कर फगवाड़ा गेट में निकाला रोड शो

सेशन में घेवर, शाही टुकड़ा, रस मलाई, श्रीखंड, शकरकंद जलेबी और आइसक्रीम जैसे व्यंजन तैयार करने सिखाए गए और उन्हें प्रदर्शित करने का बेहतर तरीका भी सिखाया गया। ताकि अपनी मिठाई को बेहतर अंदाज के साथ दूसरों के सामने प्रस्तुत करने का अनुभव भी हासिल कर सकें। शेफ गगनदीप हमपाल ने कहा कि उन्होंने कहा कि मिठाई की शुद्धता सभी के जीवन में प्यार, स्नेह व समृद्धि का प्रतिक है। ऐसे में इस तरह की गुणात्मक कार्यशाला आयोजित करने के लिए शेफ बनी के प्रयास को सराहा। क्योंकि प्रेक्टिकल डेमो के जरिये ही विद्यार्थियों को कुछ नया सीखने को मिलता है। जो उनके बेहतर भविष्य में सदैव काम आती रहेंगी। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए ही यह कार्यशाला करवाई गई, जिसमें विद्यार्थियों ने अपनी शंकाओं का जवाब भी एक्सपर्ट्स के जरिये जाना।

यह भी पढ़ें-  नवजोत कौर सिद्धू का कैप्टन पर हमला, कहा- अमरिंदर सिंह बाकी जिंदगी अरूसा आलम के साथ बिताएं

यह भी पढ़ें-   नंगल में बस की टक्कर के बाद टिप्पर से टकराई कार, हिमाचल के युवक की मौत; 20 दिन पहले हुई थी शादी

Edited By: Vinay Kumar