जागरण संवाददाता, जालंधर। आखिरकार पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पेप्सू रोड ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन (पीआरटीसी) की बसों से भी उतार दिए गए हैं। पीआरटीसी की बसों से कैप्टन अमरिंदर सिंह की फोटो उतारे जाने संबंधी आदेश बुधवार को जारी किए गए थे। हालांकि पंजाब रोडवेज की बसों के ऊपर कैप्टन अमरिंदर सिंह अभी भी बतौर मुख्यमंत्री अपनी उपलब्धियां गिनाते नजर आ रहे हैं। पंजाब रोडवेज की बसों के ऊपर लगाए गए कैप्टन अमरिंदर सिंह की फोटो वाले विज्ञापन हटाने संबंधी अभी तक स्थानीय डिपो को आदेश प्राप्त नहीं हुए हैं।

हालांकि बीते कल पंजाब रोडवेज डिपो में भी फोटो उतारे जाने संबंधी आदेशों को लेकर खासा असमंजस रहा, लेकिन अधिकारियों की तरफ से बसों पर लगे हुए विज्ञापन उतारने के लिए आधिकारिक तौर पर निर्देश प्राप्त होने का इंतजार किया जाता रहा। संभावना जताई जा रही है कि अति शीघ्र पंजाब रोडवेज की बसों के ऊपर लगे विज्ञापन उतारने संबंधी भी आदेश जारी हो जाएंगे। पंजाब सरकार की तरफ से अपनी उपलब्धियां गिनाने के लिए पंजाब रोडवेज एवं पीआरटीसी की बसों के ऊपर मुख्यमंत्री के फोटो वाले विज्ञापन लगाए गए थे। विज्ञापन बस के पीछे और कई बसों में दाईं एवं बाईं तरफ भी विज्ञापन लगे थे। हालांकि पीआरटीसी की बसों की ओर से विज्ञापन उतारे जा रहे हैं।

बता दें कि कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफा देने के बाद रातों रात जीरकपुर में भी उनके बैनर, पोस्टर और होर्डिंग्स को हटाने का काम तेज कर दिया गया और उनकी जगह नए मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी के पोस्टर धड़ाधड़ चपकाए जा रहे हैं। जीरकपुर शहर में कैप्टन अमरिंदर सिंह के लगभग सौ से ज्यादा होर्डिंग्स लगे थे, जिन्हें उतारा जा रहा है।

यह भी पढ़ें-  लाहौर के पास रावी से मिले चार शव, भारतीयों के होने की आशंका; एक सिख व्यक्ति के शव की तस्वीर भारत भेजी

यह भी पढ़ें-  साढ़े तीन माह से अयोध्या के सिविल अस्पताल में अपनों की बाट जोह रहा जालंधर का बुजुर्ग, बेटी-बेटे के इंग्लैंड में होने की कह रहे बात

Edited By: Vinay Kumar