Move to Jagran APP

'अपराध किया तो जेल भेजे या स्थिति साफ करे हाईकमान', भ्रष्टाचार की अफवाहों के बीच विजय सांपला ने तोड़ी चुप्पी

Punjab Politics होशियारपुर से भाजपा ने अनिता सोम प्रकाश को टिकट दे दी। जिसके कारण विजय सांपला नाराज हो गए। उन्हें मनाने के लिए आज गुजरात के पूर्व सीएम विजय रूपाणी और सुनील जाखड़ उनके आवास पर पहुंचे हैं। वहीं सांपला ने कहा कि उन्हें लेकर भ्रष्टाचार से जुड़ी अफवाहें उड़ाई जा रही हैं। अगर ऐसा है तो उन्हें जेल भेजा जाए या हाई कमान इस बाबत स्थिति साफ करें

By Jagran News Edited By: Prince Sharma Thu, 25 Apr 2024 12:37 PM (IST)
'अपराध किया तो जेल भेजे या स्थिति साफ करे हाईकमान', भ्रष्टाचार की अफवाहों के बीच विजय सांपला ने तोड़ी चुप्पी

हजारी लाल, होशियारपुर। Punjab Politics: करीब डेढ़ वर्ष पहले जब मैंने राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के चेयरमैन पद से इस्तीफा दिया तब तो पार्टी हाईकमान ने मुझसे बहुत सारे वादे किए थे। चुनाव लड़ाने का भी वादा किया था। संगठन में काम लेने की बात कही गई थी।

मगर, अब पार्टी में मेरे विरोधी अफवाहें फैला रहे हैं कि मुझसे इसलिए इस्तीफा लिया गया क्योंकि मैंने बहुत भ्रष्टाचार किया। यही नहीं, मुझ पर कई अन्य आरोप भी लगाए जा रहे हैं। मैंने कोई अपराध किया है तो मुझे छोड़ा नहीं जाना चाहिए, केस दर्ज कर जेल में डाल देना चाहिए।

सुनील जाखड़ और विजय रूपाणी ने की मुलाकात

हाईकमान को मुझे लेकर विरोधियों की ओर से फैलाई जा रहीं ऐसी अफवाहों पर अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए। यह बात बुधवार को पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री विजय सांपला ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कही।

खास बात यह है कि सांपला ने यह बात गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के प्रदेश प्रभारी विजय रूपाणी और प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ से मुलाकात के बाद कही। दोनों नेता विजय सांपला को मिलने होशियारपुर पहुंचे हुए थे।

माना जा रहा है कि टिकट नहीं मिलने से नाराज चल रहे विजय सांपला को मनाने के लिए ही दोनों नेता आए थे। इस दौरान बंद कमरे में सांपला की दोनों नेताओं के साथ लंबी वार्ता हुई लेकिन यह पता नहीं चल पाया कि उनमें क्या बात हुई।

चुनाव मैदान से दूरी बनाकर रखेंगे सांपला

मगर दोनों नेताओं के वहां से जाने के बाद सांपला की ओर से मीडिया से रूबरू होकर दिए गए बयान से साफ हो गया कि वर्तमान केंद्रीय राज्य मंत्री सोम प्रकाश की पत्नी और भाजपा प्रत्याशी अनीता सोम प्रकाश के चुनाव मैदान से सांपला दूरी ही बनाकर रखेंगे।

बता दें कि चार दिन पहले भी सुनील जाखड़ सांपला को मनाने पहुंचे थे। तब जाखड़ ने सब ठीकठाक होने की बात कही थी लेकिन उस दिन सांपला ने पूरी तरह से चुप्पी साध रखी थी। बुधवार को विजय रूपाणी से मुलाकात के बाद सांपला ने चुप्पी तोड़ते हुए जिस तरह हाईकमान से सवाल किया है, इसे देखकर लगता है बात बनती नहीं नजर आ रही है।

सांपला का दाहिना हाथ माने जाने वाले जालंधर से उनके भतीजे रोबिन सांपला के 23 अप्रैल को आप में शामिल होने से भाजपा हाईकमान ने मौके की नजाकत को भांपते हुए सांपला को मनाने के लिए ही रूपाणी को वहां भेजा था।

मैं भाजपा का वफादार सिपाही

सांपला ने कहा कि मैं भारतीय जनता पार्टी का वफादार सिपाही हूं... पत्रकारों से बातचीत में सांपला ने बिना किसी का नाम लिए अपने विरोधियों पर निशाना साधा।

रूपाणी के साथ बंद कमरे में हुई बातचीत के बाद मनमुटाव दूर होने के बाबत पूछने पर सांपला ने दो टूक शब्दों में कहा कि एक चीज तय है कि वह भारतीय जनता पार्टी के वफादार सिपाही हैं। मैंने पार्टी के वफादार सिपाही होने के नाते ही राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के चेयरमैन पद से इस्तीफा दिया था आज वह अभिशाप बन गया है।

यह भी पढ़ें- Chandigarh News: विधायक चौधरी विक्रमजीत को कांग्रेस ने किया निलंबित, पार्टी विरोधी गतिविधियों के लगे आरोप

यह भी पढ़ें- 44 ट्रेनें रद, 64 के बदल गए रूट..., किसानों के रेल रोको आंदोलन से रेलगाड़ियां बुरी तरह प्रभावित