जागरण संवाददाता, फिरोजपुर : फिरोजपुर मंडल रेलवे के नव-नियुक्त मंडल रेल प्रबंधक राजेश अग्रवाल ने फिरोजपुर मंडल रेलवे की उपलब्धियां गिनाई। उन्होंने कहा कि पूरे मंडल में 86 कैशलेस मशीने लगाने के अलावा बड़े स्टेशनों जैसे कि माता वैष्णो देवी, लुधियाना सहित अन्य जगहों पर एक्सलेटर व लिफ्ट लगाई जा रही है। डीजलीकरण की बजाय मंडल की सभी लाइनों को इलेक्ट्रानिक किया जा रहा है। मंडल के अंतर्गत आते 296 मानव रहित फाटकों को सुरक्षित किया गया है। इनमें 80 पर अंडरब्रिज तथा कुछ फाटकों का रास्ता कनवर्ट किया गया है। उन्होंने कहा कि डिजिटल इंडिया की तरफ कदम बढ़ाते हुए पठानकोट व जोगिद्रानगर के सभी स्टेशनों को वाई-फाई सुविधा से लैस करने के अलावा बड़े स्टेशनों पर भी इंटरनेट की सुविधा प्रदान की गई है।

डीआरएम ने बताया कि फिरोजपुर-फाजिल्का तथा फगवाड़ा-नवांशहर की रेल लाइनों पर ट्रेनों की स्पीड 75 किलोमीटर प्रति घंटा से बढ़ाकर 100 किलोमीटर प्रति घंटा की दर से कर दी गई है। उन्होंने बताया कि फिरोजपुर मंडल के अंतर्गत आते सभी रेलवे लाइनों के विद्युतीकरण के प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है। इसके चलते आगामी 2 वर्ष तक सभी रेलवे लाइनों पर इलेक्ट्रिक ट्रेनें दौडे़ंगी। इससे पूर्व मंडल के सभी 207 मानव रहित रेलवे क्रासिग को हटाया गया है। इसके अलावा बीते वर्ष में मंडल की ओर से मंडल के अंतर्गत आते रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों की सुविधाओं के लिए बहुत से कार्य किए गए हैं।

उन्होंने बताया कि फिरोजपुर मंडल में पहली रेल लाइन अप्रैल 1862 में प्रारंभ हुई हुई। फिरोजपुर मंडल पंजाब, हिमाचल और जम्मू-कश्मीर राज्यों की रेल परिवहन आवश्यकताओं की पूर्ति करता है। अमृतसर रेलवे स्टेशन के यार्ड को फिर से बनाया गया जो जुलाई 2018 में तैयार हो गया। लुधियाना रेलवे स्टेशन की लोड को कम करने के लिए बद्दोवाल स्टेशन पर गुड्स शेड बनाया गया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!