Move to Jagran APP

Punjab News: राज्यपाल के अभिभाषण में विघ्न डालने पर कांग्रेस पर बरसे चीमा, बोले- 'पार्टी को नहीं लोकतंत्र में भरोसा...'

Punjab Assembly Budget 2024 पंजाब के वित्तमंत्री चीमा ने कांग्रेस पर निशाना साधा है। चीमा ने कहा की कांग्रेस द्वारा सत्र की शुरुआत श्रद्धांजलि से करने की मांग बेहद निंदनीय है। क्योंकि विधान सभा की नियमावली व परंपरा को तोड़ी नहीं जा सकती है। चीमा ने आरोप लगाया है की कांग्रेस को लोकतंत्र पर अब भरोसा नहीं रह गया है।

By Kailash Nath Edited By: Himani Sharma Published: Fri, 01 Mar 2024 05:25 PM (IST)Updated: Fri, 01 Mar 2024 05:25 PM (IST)
Punjab News: राज्यपाल के अभिभाषण में विघ्न डालने पर कांग्रेस पर बरसे चीमा, बोले- 'पार्टी को नहीं लोकतंत्र में भरोसा...'
राज्यपाल के अभिभाषण में विघ्न डालने पर कांग्रेस पर बरसे चीमा (फाइल फोटो)

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। Punjab Assembly Budget 2024: पंजाब सरकार के वित्त मंत्री हरपाल चीमा ने आरोप लगाया है की कांग्रेस को लोकतंत्र पर अब भरोसा नहीं रह गया है। कांग्रेस पार्टी द्वारा सदन में राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित के अभिभाषण से पहले खनौरी बॉर्डर पर किसानी संघर्ष में मारे गए शुभकरण को श्रद्धांजलि देने को लेकर किए गए शोर-शराबे की निंदा की।

loksabha election banner

चीमा ने कहा कि राज्यपाल के अभिभाषण में विघ्न डाल कर कांग्रेस ने सदन का अपमान किया हैं। उन्होंने कहा कि विधान सभा के नियमावली और वर्षों से चली आ रही परंपरा के अनुसार सत्र की शुरूआत राज्यपाल के अभिभाषण से होता है।

श्रद्धांजलि से सत्र की शुरुआत करना निंदनीय: चीमा

चीमा ने कहा की कांग्रेस द्वारा सत्र की शुरुआत श्रद्धांजलि से करने की मांग बेहद निंदनीय है। क्योंकि विधान सभा की नियमावली व परंपरा को तोड़ी नहीं जा सकती है। जबकि कांग्रेस को यह बर्दाश्त नहीं हो रहा कि पंजाब के लोगों को आम आदमी क्लीनिक के जरिये मुफ्त इलाज मिल रहा है।

यह भी पढ़ें: Jalandhar News: पोंजी स्कीम धोखाधड़ी मामले में ED का बड़ा एक्‍शन, 1.64 करोड़ की 64 संपत्तियां जब्त; दर्ज हैं कई FIR

पंजाब सरकार अब प्राइवेट थर्मल प्लांट खरीदने लगी है। राज्य में स्कूल आफ एमिनेंस बन रहे है। जबकि यही कांग्रेस है जिसने कभी सत्र की अवधि बढ़ाने के लिए हाउस में रात भी बिताई है। कांग्रेस के रवैये से देख कर लगता है कि अब उन्हें लोक तंत्र में भरोसा नहीं रह गया है।

सीएम ने केंद्र को नहीं लिखा पत्र

चीमा ने कहा कि 2020 में भी किसान आंदोलन हुआ था। तब कांग्रेस सत्ता में थी लेकिन तब के मुख्यमंत्री ने एक भी पत्र केंद्र सरकार को नहीं लिखा। जबकि आम आदमी पार्टी की सरकार किसानों के साथ खड़ी है। इसलिए शुभकरण के परिवार को मुख्यमंत्री ने 1 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता दी और उसकी बहन को पंजाब पुलिस ने कांस्टेबल भर्ती करने का प्रस्ताव दिया। कांग्रेस द्वारा बार-बार जीरो एफआईआर का मुद्दा उठाने के संबंध में चीमा ने कहा कि पर्चा दर्ज हो गया है। अब आगे की जांच होगी।

यह भी पढ़ें: Tarn Taran Crime: पंजाब में AAP कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या, हमलावरों ने रेलवे क्रॉसिंग पर की अंधाधुंध फायरिंग

जबकि कांग्रेस केवल सस्ती शोहरत हासिल करना चाहती है। कांग्रेस को चाहिए था कि वह राज्यपाल का अभिभाषण सुनते और फिर उनके पास सदन में बोलने का मौका होता लेकिन कांग्रेस केवल सुर्खिया बनाने की कोशिश में जुटी रहती है। इससे स्पष्ट है कि कांग्रेस को अब लोक तंत्र में भरोसा नहीं रह गया है।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.