चंडीगढ़ [कुलदीप शुक्ला]। कैब ड्राइविंग के समय मोबाइल पर गूगल मैप देखने वाले कैब व प्राइवेट चालकों पर कार्रवाई की जाएगी। अब से ट्रैफिक पुलिस ऐसे चालकों पर पैनी नजर रखेगी। अगर ड्राइविंग के समय गूगल मैप पर ड्राइवर की नजर होगी तो पुलिस तुरंत अन्य ट्रैफिक नियमों के उल्लघंन की तरह बनती कार्रवाई करेंगी।

इस तरह के नियम को ट्रैफिक अफेंस तोड़ने में लाने की जरूरत ट्रैफिक पुलिस को हेल्पलाइन पर आने वाली पब्लिक की शिकायतों से पड़ी है। पब्लिक की सुरक्षा व शिकायतों को ध्यान में रखकर ट्रैफिक पुलिस ये कदम उठाने जा रही है। यह नियम प्राइवेट गाड़ी ड्राइव करने वालों पर भी लागू होगा।

ड्राइविंग पर मोबाइल इस्तेमाल करने का अफेंस बनेगा

जैसे ड्राइव के समय मोबाइल इस्तेमाल करने पर चालान किया जाता है उसी पैटर्न पर ट्रैफिक पुलिस चालान करेगी। वर्तमान में ड्राइविंग के समय मोबाइल पर बातचीत के अफेंस में 1000 हजार रुपये का चालान व तीन महीने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस सस्पेंड होता है। ट्रैफिक पुलिस इस चालान के बाद लाइसेंस सस्पेंड करने की सिफारिश पर अभी विचार करेगी।

शिकायतें- कही-कभी भी मैप के आधार पर तुरंत कट मार लेते कैब चालक

ट्रैफिक पुलिस विभाग के पास कैब चालकों की ड्राइविंग पर सवाल और शिकायतें आ रही हैं। शिकायतकर्ताओं का कहना है कि कैब चालक ड्राइविंग के समय मोबाइल पर गूगल मैप इस्तेमाल करते है। उसी मैप के आधार पर वह ड्राइविंग भी करते है। जिसके कारण कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है।

मैप लगाना गलत नहीं, ड्राइविंग के समय नहीं कर सकते इस्तेमाल

इस संबंध में एसएसपी शशांक आनंद ने बताया कि मोबाइल पर गूगल मैप का इस्तेमाल गाड़ी को साइड लगाकर कर सकते हैं। लेकिन, अगर गाड़ी ड्राइव करते समय गूगल मैप का इस्तेमाल करते ड्राइवर पकड़े जाते हैं तो तुरंत पुलिस कार्रवाई करेगी।

कैब से होने वाले हादसों का डाटा खंगाल रही ट्रैफिक पुलिस

इस कदम को और भी पुख्ता से उठाने के लिए ट्रैफिक पुलिस कैब चालकों द्वारा हुए सड़क हादसों का डाटा खंगाल रही है। इसको भी पुलिस नियम लागू करने के लिए आधार के तौर पर इस्तेमाल करेगी।

पब्लिक ने कहना ये समस्या तो है, ट्रैफिक पुलिस का अच्छा कदम

ट्रैफिक पुलिस के इस कदम पर दैनिक जागरण ने शहर के कुछ लोगों से बातचीत की। इस दौरान लगभग सभी ने कहा कि ये एक समस्या तो शहर में है और ट्रैफिक पुलिस एक अच्छा कदम उठाने जा रही है।

यह भी पढ़ेंः हेलीकॉप्टर में जा रहे सीएम ने लाइव देखी अवैध माइनिंग, कार्रवाई के निर्देश

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!