Move to Jagran APP

Punjab News: नवजोत सिद्धू गुट और कांग्रेस नेताओं के बीच खींचतान जारी, चुनाव प्रचार में नहीं देंगे एक-दूसरे का साथ

Lok Sabha Election 2024 नवजोत सिंह सिद्धू गुट के नेताओं और कांग्रेस नेताओं के बीच खींचतान अभी भी जारी है। सिद्धू गुट के किसी भी नेता ने अभी तक कांग्रेस के चुनाव प्रचार में खुलकर हिस्सा नहीं लिया है। जानकारी के अनुसार पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू का गुट अगले कुछ दिनों में बैठक करके कोई सख्त फैसला ले सकता है।

By Subhash Chander Edited By: Himani Sharma Published: Thu, 02 May 2024 06:36 PM (IST)Updated: Thu, 02 May 2024 06:36 PM (IST)
नवजोत सिद्धू गुट और कांग्रेस नेताओं के बीच खींचतान जारी (फाइल फोटो)

जागरण संवाददाता, बठिंडा। Lok Sabha Election 2024: कांग्रेस पार्टी ने राज्य की एक लोकसभा सीट को छोड़कर बाकी सभी सीटों पर अपने उम्मीदवार उतार दिए हैं, लेकिन इसके बावजूद पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) और उनके गुट के कांग्रेस नेताओं ने पार्टी के चुनाव प्रचार से दूरी बना रखी है। नवजोत सिद्धू गुट के किसी भी नेता ने अभी तक कांग्रेस के चुनाव प्रचार में खुलकर हिस्सा नहीं लिया है।

वड़िंग ने सिद्धू को बताया कांग्रेस का बड़ा नेता

हालांकि कांग्रेस पार्टी ने जिन उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है, वे चुनाव प्रचार में कूदने के लिए नवजोत और उनके साथियों से संपर्क कर रहे हैं, लेकिन इन नेताओं ने अपने चुनाव प्रचार को लेकर उम्मीदवारों को दो-टूक जवाब दे दिया है।

भले ही पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने पार्टी के एकमुठ होने का दावा किया है और नवजोत सिंह सिद्धू को कांग्रेस का बड़ा नेता भी बताया है। लेकिन नवजोत गुट और उसके गुट के नेताओं के कांग्रेस उम्मीदवारों के पक्ष में प्रचार से दूर रहने से कांग्रेस पार्टी में फूट साफ दिख रही है।

सिद्धू के गुट के लोगों ने बैठक में लिया था फैसला

गौरतलब है कि नवजोत सिद्धू के गुट के नेताओं ने कुछ समय पहले बैठक कर फैसला लिया था कि जब तक कांग्रेस आलाकमान नवजोत सिद्धू की रैलियां करवाने के चलते पार्टी से निकाले गए नेताओं को दोबारा कांग्रेस में शामिल नहीं कर लेता, तब तक वे चुनाव प्रचार में हिस्सा नहीं लेंगे।

यह भी पढ़ें: Lok Sabha Election 2024: पंजाब में लोकसभा सीटों के लिए 15 निगरान अफसर नियुक्त, चुनाव खर्चों पर रखेंगे कड़ी नजर

नवजोत सिद्धू गुट के नेताओं की इस मांग को कांग्रेस आलाकमान ने अभी तक कोई ज्यादा तवज्जो नहीं दी है। जिसके चलते नवजोत सिद्धू गुट के नेता अपने-अपने घरों में बैठकर कांग्रेस आलाकमान का मुंह ताक रहे हैं।

कांग्रेस हाईकमान ने नवजोत सिंह से किया था संपर्क

जानकारी के अनुसार पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू का गुट अगले कुछ दिनों में बैठक करके कोई सख्त फैसला ले सकता है। बताया जाता है कि कांग्रेस हाईकमान ने एक बार नवजोत सिंह सिद्धू से संपर्क स्थापित किया था, जिन्होंने हाईकमान को कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं की भावनाओं से अवगत कराया था, लेकिन उसके बाद कांग्रेस हाईकमान ने इस मामले में कुछ नहीं किया।

यही कारण है कि इस गुट के अधिकांश कांग्रेस नेताओं ने अभी तक उम्मीदवारों के पक्ष में प्रचार करने का निर्णय नहीं लिया है। अगर नवजोत सिंह सिद्धू और उनके गुट के नेता कांग्रेस उम्मीदवारों के पक्ष में प्रचार नहीं करेंगे तो कांग्रेस को बड़ा नुकसान हो सकता है।

हरविंदर सिंह लाडी ने भी दिया बयान

नवजोत सिद्धू के करीबी और विधानसभा हलका बठिंडा ग्रामीण के प्रभारी हरविंदर सिंह लाडी ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस पार्टी की रैलियों में खर्च करके हजारों लोगों को इकट्ठा किया था, लेकिन उन्हें सम्मान देने की बजाय उन्हें पार्टी से निकालकर अपमानित किया गया। उन्होंने कहा कि वह कांग्रेस आलाकमान से अपनी गलती के बारे में पूछना चाहते हैं।

यह भी पढ़ें: Punjab News: देश के खिलाफ साजिश रचने वाले व्यक्ति को दी थी शरण, अब महिला आरोपी को HC ने दी जमानत; आखिर क्यों?

सिद्धू पार्टी प्रत्याशियों के हक में प्रचार नहीं करेंगे कांग्रेस नेता

जब तक कांग्रेस हाईकमान के नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी या महासचिव केसी वेणु गोपाल जैसे बड़े नेता कांग्रेस पार्टी से निष्कासित नेताओं को दोबारा पार्टी में शामिल नहीं करते, तब तक कांग्रेस के गुट के नेता नवजोत सिद्धू पार्टी प्रत्याशियों के हक में प्रचार नहीं करेंगे। कांग्रेस के सभी नेता पार्टी उम्मीदवारों को वोट तो देंगे लेकिन उनके चुनाव प्रचार में हिस्सा नहीं लेंगे। उन्होंने कहा कि जल्द ही पार्टी नेता बैठक कर इस मामले पर चर्चा करेंगे।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.