बरेली (जेएनएन)। कासगंज उपद्रव के बाद बरेली डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह द्वारा फेसबुक पर किए गए एक पोस्ट ने प्रदेश सरकार के लिए मुश्किल खड़ी कर दी है। उन्होंने कासगंज घटना की पृष्ठभूमि में कारण माने जा रहे नारेबाजी प्रकरण को केंद्रबिंदु में रखकर 28 जनवरी को विचार साझा किए। हालांकि, महज 39 शब्दों के पोस्ट से विवाद उत्पन्न हो गया। फिर भी उन्होंने माना-यह उनके निजी विचार हैं। खास बात यह है कि पूर्व सैन्य अधिकारी रहे आइएएस राघवेंद्र विक्रम सिंह इसी साल 30 अप्रैल को सेवानिवृत्त होने वाले हैं।

डीएम ने यह पोस्ट कासगंज में 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर हुए विवाद के दो दिन बाद 28 जनवरी की शाम को आर विक्रम सिंह नाम से बने अपने फेसबुक पेज पर डाली। पोस्ट में यात्रा निकालने के लिए मार्ग चुनने और फिर वहां पर नारेबाजी की बात को लिखा है। पोस्ट फेसबुक पर साझा होते ही इसके पक्ष और विरोध में तमाम लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया दी। सोमवार रात तक साढ़े तीन सौ से अधिक लोगों ने इसे लाइक किया तो 422 लोगों ने उनके पोस्ट के बाद अपने कमेंट लिखे।

लखनऊ में सरकार तक पहुंची बात

सोशल मीडिया की सक्रियता के चलते सोमवार को राजधानी लखनऊ में नौकरशाहों और सियासी गलियारे में भी बरेली डीएम की यह पोस्ट चर्चा में आ गई। डीएम के पेज से लखनऊ में मौजूदा समय में तैनात तमाम सीनियर अफसर भी जुड़े हुए हैं।

पोस्ट में यह लिखा

'अजब रिवाज बन गया है। मुस्लिम मुहल्लों में जबरदस्ती जुलूस ले जाओ और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाओ। क्यों भाई वे पाकिस्तानी हैं क्या? यही यहां बरेली में खैलम में हुआ था। फिर पथराव हुआ। मुकदमे लिखे गए...

चीन मुर्दाबाद क्यों नहीं

पोस्ट के विवादित होने और तरह-तरह की प्रतिक्रिया के तीन घंटे बाद डीएम ने एक और कमेंट किया। फेसबुक पर लिखा-'चीन तो बड़ा दुश्मन है, तिरंगा लेकर चीन मुर्दाबाद क्यों नहीं...?

पोस्ट मैंने ही किया था। मेरा आशय किसी मजहब या भावनाओं को आहत करना नहीं था। ऐसी घटनाओं से कानून-व्यवस्था की स्थिति बिगड़ती है। प्रशासन, पुलिस के साथ ही स्थानीय लोगों के लिए भी दिक्कतें खड़ी होती हैं। हम विकास के बारे में सोच रहे हैं, उसके बारे में बात कर रहे हैं। लेकिन ऐसी घटनाओं से अनावश्यक अवरोध होते हैं। आपसी सौहार्द से ही तरक्की हासिल होती है।

-कैप्टन राघवेंद्र विक्रम सिंह, डीएम बरेली

प्रशासनिक अधिकारियों का काम माहौल ठीक करना

बरेली के डीएम आर विक्रम सिंह की फेसबुक पोस्ट पर उठे बवाल के बाबत प्रदेश सरकार के प्रवक्ता और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि प्रशासनिक अधिकारियों को माहौल ठीक करने में अपनी ऊर्जा लगानी चाहिए न कि बिगाडऩे में। उनका काम व्यवस्था को ठीक करना है। मीडिया या सोशल मीडिया में टीका-टिप्पणी करना नहीं। वह माहौल खराब न करें बल्कि, व्यवस्था ठीक करने में ध्यान लगाएं। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप