नई दिल्‍ली, एजेंसी/ब्‍यूरो। Winter Session of Parliament संसद का शीतकालीन सत्र शुरू हो गया है। सत्र की शुरुआत से पहले पीएम मोदी ने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि साल 2019 का यह आखिरी सत्र बेहद महत्‍वपूर्ण रहने वाला है। हम सभी मुद्दों पर विपक्ष के साथ सार्थक चर्चा चाहते हैं। संसद में सार्थक संवाद हो और हर कोई अपने विवेक के जरिए इस सत्र को सार्थक बनाने में मदद करे। प्रधानमंत्री ने कहा कि सकारात्मक भूमिका वाला पिछला सत्र महत्‍वपूर्ण सिद्धियों से भरा रहा था। हमें उम्मीद है कि इस सत्र से भी बेहद सकारात्मक नतीजे निकलेंगे।  

Parliament Winter Session Live Update...

पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि 2003 में अटल जी ने टिप्पणी की थी कि राज्यसभा दूसरा सदन हो सकता है लेकिन इसे द्वितीयक सदन नहीं कहा जाना चाहिए। आज, मैं अटल जी के विचारों से सहमत हूं और यह जोड़ना चाहता हूं कि राष्ट्रीय विकास के लिए राज्यसभा एक सक्रिय सहायक सदन होना चाहिए।

पीएम मोदी ने कहा कि आज मैं दो दलों, राकांपा और बीजद की सराहना करना चाहता हूं। इन दलों ने संसदीय मानदंडों का कड़ाई से पालन किया है। वे कभी कुएं में नहीं गए। फिर भी, उन्होंने अपनी बातों को बहुत प्रभावी ढंग से उठाया है। मेरा सहित अन्य दल उनसे सीख सकते हैं।

- राज्‍यसभा के 250वें सत्र में पीएम मोदी ने कहा कि यह सदन भारत की विकास यात्रा का प्रतिबिंब है। स्‍थायित्‍व और विविधता इस सदन का प्रतीक है। लोकसभा भंग होती है लेकिन राज्यसभा कभी भंग नहीं होती है।   

- केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने लोकसभा में दिल्‍ली में पानी की गुणवत्‍ता पर कहा कि इस मसले पर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए। मैं पानी के नमूनों की जांच के लिए दो से तीन वरिष्ठ अधिकारियों को नियुक्‍त करुंगा। दिल्ली सरकार को भी दो तीन अधिकारियों की नियुक्ति करनी चाहिए। हम सार्वजनिक रूप से रिपोर्ट जारी करेंगी।

- राज्‍यसभा में मार्शलों की पोशाक अब बदल गई है। (तस्‍वीर-1 में नई पोशाक, तस्‍वीर-2 में पुरानी यूनिफार्म)

- समाचार एजेंसी एएनआइ ने पीएमओ के हवाले से बताया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगभग दो बजे राज्‍यसभा को संबोधित करेंगे। प्राप्‍त जानकारी के मुताबिक, राज्‍यसभा के 250वे सत्र में विशेष डिस्‍कशन रखा गया है। इसी डिस्‍कशन में पीएम मोदी को संबोधित करना है। 

- संसद में एकदूसरे से हाथ मिलाते हुए भाजपा सांसद रविशंकर प्रसाद और कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी...  

- लोकसभा में शून्यकाल के दौरान लक्षद्वीप के सांसद फैजल पीपी मोहम्मद ने कहा कि हमारे यहां तैनात अधिकांश अधिकारी DANICS (दिल्ली, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, लक्षद्वीप, दमन और दीव एवं दादरा और नगर हवेली सिविल सेवा) से जुड़े हैं। वे स्थानीय मुद्दों को समझ ही नहीं पाते हैं। 

- अभिनेत्री एवं टीएमसी सांसद नुसरत जहां Nusrat Jahan आज संसद सत्र में भाग नहीं लेंगी। सांस लेने में तकलीफ के कारण उन्‍हें कल कोलकाता के अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

- कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने लोकसभा में कहा कि हम सोनिया (Sonia Gandhi), राहुल (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi Vadra) से एसपीजी सुरक्षा हटाए जाने का मामला भी उठाना चाहते हैं। 

- राज्‍यसभा की कार्यवाही दोपहर दो बजे तक के लिए स्‍थगित। 

- राज्‍यसभा में शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, संघर्ष का दूसरा नाम अरुण जेटली था। हमने जेटली जी से सीखा कि रिश्ते क्या होते हैं और उनको निभाया कैसे जाता है। 

- कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने लोकसभा में कहा कि 108 दिनों फारुख अब्‍दुल्‍ला जी को हिरासत में रखा गया है। ये क्‍या जुल्‍म हो रहा है। हम चाहते हैं कि उन्‍हें संसद में बुलाया जाए। यह उनका संवैधानिक अधिकार है। 

- विपक्ष के सांसदों ने लोकसभा में फारुख अब्‍दुल्‍ला को रिहा करो, विपक्ष पर हमला बंद करो, वी वॉन्‍ट जस्टिस के नारे लगाए। 

- लोकसभा में प्रश्‍नकाल के दौरान नारेबाजी के बीच संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने कहा कि सरकार सभी मसलों पर बहस के लिए तैयार है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी यह बात कह चुके हैं। 

Parliamentary Affairs Minister Pralhad Joshi in Lok Sabha as few MPs raise slogans during Question Hour: The PM has assured that the government is ready to hold discussions on all matters. pic.twitter.com/OsaDYy0YOH

— ANI (@ANI) November 18, 2019

- राज्‍यसभा में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि जेटली जी का जाना किसी पार्टी का नहीं बल्कि पूरे देश का नुकसान है। वह एक अच्‍छे छात्र, अच्छे संचालक और अच्छे नेता थे। 

- शिवसेना सांसदों ने महाराष्ट्र में बेमौसम हुई बारिश को प्राकृतिक आपदा घोषित करने की मांग की और संसद भवन परिसर में विरोध प्रदर्शन किया।

- कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई राजधानी दिल्‍ली में बढ़ते वायु प्रदूषण के मसले पर संसद भवन परिसर में महात्मा गांधी की मूर्ति के सामने विरोध प्रदर्शन किया।

- शिवसेना ने महाराष्ट्र में भारी बारिश कारण फसलों को हुए नुकसान पर लोकसभा में कार्य स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है।

- संसद पहुंचे पीएम मोदी ने कहा कि पिछला सत्र सभी दलों, सभी माननीय सांसदों के सहयोग के कारण अभूतपूर्व सिद्धियों से भरा हुआ था। हम इस सत्र में सभी मुद्दों पर सार्थक चर्चा चाहते हैं। 

इन मुद्दों से गर्म रहेगा सियासी माहौल 

समाचार एजेंसी पीटीआइ ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि जम्मू-कश्मीर के हालात, आर्थिक सुस्‍ती, बेरोजगारी, कृषि संकट और नागरिकता संशोधन विधेयक कुछ ऐसे मसले हैं जो सत्र को गरम रखने का काम करेंगे। विपक्ष इन मसलों पर सरकार को घेर सकता है। नागरिकता संशोधन विधेयक, 1955 के नागरिकता अधिनियम के कुछ प्रावधानों में संशोधन के लिए पेश किया जा रहा है। सरकार ऐसे प्रावधान चाहती है जिससे बांग्लादेश, पाकिस्तान, अफगानिस्तान से आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदाय के लोगों को भारत की नागरिकता मिल सके। विपक्षी दलों को इस पर एतराज है। 

सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार

सरकार की ओर से बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विपक्ष को भरोसा दे चुके हैं कि सरकार सदन के नियमों व प्रक्रियाओं के दायरे में सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है। सूत्रों की मानें तो 18 नवंबर से 13 दिसंबर तक चलने वाले इस सत्र में सरोगेसी (रेगुलेशन) बिल, ई-सिगरेट पर पाबंदी  समेत 47 बिल एवं प्रस्ताव संसद में रखे जाने हैं। बता दें कि पिछला सत्र लोकसभा के इतिहास में सबसे सफल सत्र रहा था। इस दौरान 35 विधेयक पारित हुए थे और राज्यसभा से 32 विधेयकों को मंजूरी मिली थी। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप