इंदौर, एजेंसियां। ख्यात फिल्म अभिनेत्री, शास्त्रीय नृत्यांगना और भाजपा सांसद हेमा मालिनी ने कहा कि पहले अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के निर्माण की संकल्पना को आकार मिला। इसके बाद काशी में भी ऐतिहासिक बदलाव हो चुका है। अब मथुरा में भी सुधार होना ही चाहिए। इस दौरान उन्होंने उम्मीद जताई कि उनके संसदीय क्षेत्र मथुरा को भी भव्य मंदिर मिलेगा। उन्होंने कहा कि श्रीकृष्ण तो खुद प्रेम के पर्याय हैं। वहां यह कार्य और जल्द होना चाहिए।

लंबे समय के बाद इंदौर आईं हेमा मालिनी ने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि यह उनका पसंदीदा शहर है और यहां से यह राज जानकर ही जाएंगी कि आखिर यह शहर हर बार शहर स्वच्छता में पहले क्रम पर कैसे आता है। रविवार को यहां एक कार्यक्रम के दौरान देश के जाने माने बांसुरी वादक पद्मविभूषण पंडित हरिप्रसाद चौरसिया व शास्त्रीय गायिका पद्मभूषण बेगम परवीन सुलताना के साथ उन्हें हरि सम्मान से सम्मानित भी किया गया।

एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए यहां आई भाजपा सांसद हेमा मालिनी ने कहा कि वह सोमवार को निमंत्रण पर काशी जा रही हैं। इस दौरान उन्होंने कहा, ' प्रेम और स्नेह के प्रतीक भगवान कृष्ण की जन्मभूमि मथुरा के सांसद होने के नाते मैं कहूंगी कि भव्य मंदिर होना चाहिए। एक मंदिर पहले से ही है और मोदी जी (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) द्वारा विकसित काशी विश्वनाथ कारिडोर की तरह इसका सुंदरीकरण किया जा सकता है और गंगा नदी को सीधे मंदिर से देखा जा सकता है।

हेमा मालिनी ने आगे कहा, 'यह परिवर्तन (काशी विश्वनाथ का जीर्णोद्धार और पुनर्विकास) बहुत कठिन था। यह उनकी (मोदी की) दूरदर्शिता को दर्शाता है। मथुरा में भी ऐसा ही होगा।

Edited By: Tanisk