Move to Jagran APP

Kapil Sibal on Violence: कपिल सिब्बल का BJP पर आरोप- 2024 चुनाव से पहले का ट्रेलर है बंगाल-गुजरात की हिंसा

राज्यसभा सांसद कपिल सिब्बल ने शनिवार को भाजपा पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि 2024 के आम चुनाव नजदीक आने के साथ ही भाजपा सांप्रदायिक हिंसा को अपना मुद्दा बना रही है और पश्चिम बंगाल-गुजरात में हुई हाल की घटनाएं एक ट्रेलर हैं।

By AgencyEdited By: Mohd FaisalPublished: Sat, 01 Apr 2023 11:45 AM (IST)Updated: Sat, 01 Apr 2023 11:45 AM (IST)
Kapil Sibal on Violence: कपिल सिब्बल का BJP पर आरोप (फाइल फोटो)

नई दिल्ली, एजेंसी। राज्यसभा सांसद कपिल सिब्बल ने शनिवार को भाजपा पर गंभीर आरोप लगाए। कपिल सिब्बल ने आरोप लगाया है कि 2024 के आम चुनाव नजदीक आने के साथ ही भाजपा सांप्रदायिक हिंसा को अपना मुद्दा बना रही है और पश्चिम बंगाल-गुजरात में हुई हाल की घटनाएं एक ट्रेलर हैं।

For the BJP

On the table :

1) communal violence

2) hate speech

3) baiting minorities

4) target opposition by use of ED, CBI, election commission

Trailer :

Burning of Bengal

Stoking communal violence in Karnataka, Maharashtra, Gujarat— Kapil Sibal (@KapilSibal) April 1, 2023

कपिल सिब्बल ने ट्वीट कर साधा निशाना

कपिल सिब्बल ने भाजपा पर हमला बोलते हुए एक ट्वीट भी किया है। उन्होंने लिखा कि ''जैसे-जैसे 2024 करीब आ रहा है, यह होंगे भाजपा के अहम मुद्दे''।

1- साम्प्रदायिक हिंसा

2- अभद्र भाषा

3- अल्पसंख्यकों को प्रलोभन देना

4- ईडी, सीबीआई, चुनाव आयोग के इस्तेमाल से विपक्ष को निशाना बनाना

उन्होंने आगे लिखा कि बंगाल का जलना, कर्नाटक, महाराष्ट्र, गुजरात में साम्प्रदायिक हिंसा भड़काना तो ट्रेलर है।

रामनवमी के दौरान कई जगह पर हुई हिंसा

बता दें कि पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले में रामनवमी उत्सव के दौरान दो समूहों के बीच झड़प के बाद हिंसा और आगजनी की खबरें सामने आई थीं। इसके अलावा रामनवमी उत्सव के दौरान गुजरात और महाराष्ट्र से भी हिंसा की खबरें आईं। फिलहाल हावड़ा में हुई हिंसा को लेकर भाजपा लगातार राज्य की ममता सरकार पर सवाल उठा रही है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी राज्यपाल से बात की है।

कांग्रेस सरकार में केंद्रीय मंत्री भी रहे हैं सिब्बल

गौरतलब है कि कपिल सिब्बल यूपीए-1 और 2 शासन के दौरान केंद्रीय मंत्री भी रहे हैं। हालांकि, उन्होंने पिछले साल मई में कांग्रेस छोड़ दी थी और समाजवादी पार्टी के समर्थन से निर्दलीय सदस्य के रूप में राज्यसभा के लिए चुने गए थे। सिब्बल ने हाल ही में अन्याय से लड़ने के उद्देश्य से एक गैर-चुनावी मंच इंसाफ भी शुरू किया है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.