नई दिल्ली,एएनआइ। कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपनी ही पार्टी के खिलाफ बगावती सुर छेड़ दिए हैं। उन्होंने मध्यप्रदेश के कमलनाथ सरकार पर किसानों की कर्ज माफी ठीक से नहीं करने का आरोप लगाया है। मध्यप्रदेश के भिंड़ में एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि  किसानों का  कृषि ऋण माफी समग्रता से नहीं की गई है। केवल 50,000 रुपये तक का ऋण ही माफ किया गया है। जबकि हमने 2 लाख रुपये तक का ऋण माफ करने के लिए कहा था। उन्होंने आगे कहा कि  2 लाख रुपए तक के कृषि ऋण को माफ किया जाना चाहिए। 

बता दें कि सिंधिया भिंड़ में एक रैली को संबोधित करने के लिए पहुंचे थे। जल्द ही झाबुआ में उपचुनाव होने वाला है ऐसा में सिंधिया का ये बयान कांग्रेस के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकता है। इससे पहले सिंधिया कांग्रेस की स्थिति को लेकर कह चुके हैं कि कांग्रेस को आत्म अवलोकन की जरुरत है। पार्टी की मौजूदा स्थिति पर उन्होंने कहा कि समय की जरुरत है कि पार्टी की स्थिति में सुधार किया जाए। 

 

 दिग्विजय सिंह के भाई ने भी उठाए सवाल

ऐसा पहली बार नहीं है जब पार्टी में किसानों की कर्जमाफी को लेकर बगावती सुर उठे हों। इससे पहले भी राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के भाई लक्ष्मण सिंह ने भी निशाना साधते हुआ कहा कमनलाथ सरकार की कर्जमाफी योजना पर ही सवाल उठा दिए थे। इतना ही नहीं उन्होंने तो ये भी कह दिया था कि किसानों की कर्जमाफी पूरी तरह से नहीं की गई है इसलिए राहुल गांधी को जनता से माफी मांगनी चाहिए। 

पिछले साल मध्यप्रदेश में सत्ता में आई कांग्रेस के प्रमुख वादों में से एक किसान की कर्जमाफी का भी था। कर्जमाफी के तहत किसानों का कर्ज माफ तो किया गया है लेकिन अससे कितना किसानों को फायदा मिला है इसके आंकड़े अभी तक सामने नहीं आए हैं।

ये भी पढ़ें: PM मोदी और चिंनफिंग की मुलाकात के लिए फलों और सब्जियों से हो रही अनोखी सजावट, देखें तस्वीरें

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस