नई दिल्ली (आइएएनएस)। आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडु ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। इस मुलाकात के दौरान नायडु ने मोदी को आंध्रप्रदेश पुनर्गठन अधिनियम में किये गए वादों को पूरा करने की अपील की। घंटों चले इस बैठक में टीडीपी (तेलुगु देशम पार्टी) प्रमुख ने इस अधिनियम के अंतर्गत आने वाले अधूरे वादों को पूरा करने की अपील की। बैठक में टीडीपी अध्यक्ष नायडु ने मोदी को 17 पेज का ज्ञापन भी सौंपा। इस बैठक इसलिए भी अहम माना जा रहा है क्योंकि हाल ही में टीडीपी और भाजपा के बीच तनाव के संकेत देखे गए हैं।

बताया जा रहा है कि, चंद्रबाबू नायडु और मोदी की ये मुलाकात डेढ़ साल के बाद हुई है। उन्होंने आगामी लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव की याद दिलाते हुए मोदी को लंबे समय से लंबित पड़े योजनाओं को पूरा करने के लिए तत्काल कदम उठाने की अपील की। इस दौरान टीडीपी नेता ने ये संकेत भी दिया कि केंद्र के साथ उनकी पार्टी का धैर्य अब खत्म होता जा रहा है। पार्टी के सासंदों ने भी शीत सत्र के अंतिम दिन मोदी मुलाकात कर उन्हें एक ज्ञापन सौंपा थ।

नायडु पोलावरम प्रोजेक्ट के लिए केंद्र से तत्काल रुप से 58,000 करोड़ रुपए की राशि की इच्छा जाहिर की। उन्होंने मोदी से नए बजट में अपनी नई राजधानी अमरावती के लिए अधिक से अधिक फंड के आवंटन की भी अपील की। अधिनियम के अनुसार, उन्होंने राज्य विधानसभा में 175 सीटों की संख्या बढ़ाकर 225 करने को कहा।

टीडीपी नेता ने मोदी का ध्यान इस ओर भी आकर्षित किया कि राज्य को अभी भी केंद्र से 3,000 करोड़ की राशि का आवंटन किया जाना बाकी है। उन्होंने जल्द से जल्द ये राशि आवंटित करने की मांग रखी। उन्होंने कहा कि राज्य के विभाजित होने के बाद राज्य को काफी नुक्सान हुआ है जिसके कारण कई वित्तीय समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है और अगर इसमें और देरी होगी तो राज्य को और भी समस्याओं का सामना करना पड़ेगा।

यह भी पढ़ें : एयरपोर्ट पर बेटे के शव के साथ फंसी थी महिला, सुषमा स्वराज ने यूं की मदद

Edited By: Srishti Verma