बेंगलुरु, एएनआइ।  बेंगलुरु में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में आयोजित ओवैसी की रैली में पाकिस्‍तान के समर्थन में नारा लगाकर हंगामा मचाने वाली अमूल्‍या को गिरफ्तारी के बाद शुक्रवार को न्‍यायिक हिरासत में भेज दिया गया और ज्‍यूडिशियल मजिस्‍ट्रेट ने उसकी जमानत से इंकार कर दिया। एएनआइ के अनुसार, गुरुवार देर रात को चिकमंगलुरु स्‍थित अमूल्‍या के घर पर हमला किया गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

उल्‍लेखनीय है कि गुरुवार को बेंगलुरु में असदुद्दीन ओवैसी ने नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में रैली आयोजित की थी जिसमें मंच पर बोलने के लिए अमूल्‍या को बुलाया गया था। इसी दौरान 19 वर्षीय अमूल्‍या ने ‘पाकिस्‍तान जिंदाबाद’ का नारा लगाया जिसके बाद उसपर देशद्रोह का आरोप लगाया गया। 

CAA के विरोध में हो रही थी रैली

पश्‍चिम बेंगलुरु के डीसीपी बी रमेश ने कहा, ‘हमने अमूल्‍या के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज कर लिया है।' दरअसल गुरुवार को वहां नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में रैली निकाली गई। रैली के दौरान अमूल्‍या  ने ‘पाकिस्‍तान जिंदाबाद’ का नारा लगाया इसलिए उसपर देशद्रोह का आरोप लगा और उसे 14 दिनों की न्‍यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

अमूल्‍या ने जो कहा गलत कहा : पिता

चिकमंगलुरु में रहने वाले अमूल्‍या के पिता ने इस वाकये पर हैरानी जताई लेकिन इसपर चकित नहीं हुए कि उनकी बेटी परेशानी में है। एएनआइ से बात करते हुए अमूल्‍या के पिता के आसपास कुछ अज्ञात लोग खड़े थे। उन्‍होंने कहा, ‘अमूल्‍या ने जो कहा वह गलत कहा। वह कुछ मुस्लिमों के साथ जुड़ गई हैं और मेरी नहीं सुनती।'

कुछ मुस्लिमों से जुड़ गई है, नहीं सुनती मेरी : पिता

उन्‍होंने कहा कि उनकी बेटी ने नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में निकाली गई रैली में जो भी किया वह गलत था। उन्‍होंने कहा, ‘यह पूरी तरह गलत है। उसने जो कहा वह मैं नहीं बर्दाश्‍त करूंगा। मैंने उसे कई बार कहा है कि मुस्लिमों के साथ मत रहो लेकिन वह नहीं सुनती। मैंने उसे अनेकों बार समझाया है कि भडकाऊ बातें न किया करे लेकिन वह ध्‍यान नहीं देती।’

देशद्रोह का मामला दर्ज

ऑल इंडिया मजलिस-ए- इत्तेहादुल मुसलमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी की अगुवाई में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में गुरुवार को रैली निकाली गई थी। रैली के दौरान अमूल्‍या नाम की एक महिला ने मंच पर 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे लगाए। इसके बाद ही रैली में हंगामा मच गया। तुरंत महिला को वहां से हटाया गया। पुलिस ने महिला के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज कर लिया। इस पर ओवैसी ने कहा कि वह पाकिस्तान जिंदाबाद के नारों का समर्थन नहीं करते।

ओवैसी ने की घटना की निंदा

बता दें कि ‘सेव कॉन्स्टिट्यूशन’ नाम की संस्था ने अमूल्‍या को मंच पर बोलने के लिए बुलाया था। अमूल्‍या ने जैसे ही मंच पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए वहां मौजूद ओवैसी समेत अन्‍य लोगों ने उससे माइक ले लिया और पुलिस की मदद से मंच से उतारा। अमूल्‍या पर आईपीसी की धारा 124 ए के तहत देशद्रोह का मामला लगाया गया। ओवैसी ने कहा कि मैं इस घटना की निंदा करता हूं। वो महिला हमारे साथ जुड़ी हुई नहीं है। हमारे लिए भारत जिंदाबाद था, जिंदाबाद रहेगा।

ओवैसी ने कहा, ‘न तो मैं और न ही मेरी पार्टी का अमूल्‍या से कोई लिंक है। हम उसकी निंदा करते हैं। आयोजकों को उसे यहां नहीं बुलाना चाहिए था। यदि मैं यह जानता तो उसे यहां आने नहीं देता। हम यहां भारत के लिए हैं और दुश्‍मन देश पाकिस्‍तान को किसी भी तरीके से समर्थन नहीं करते। हमारा मिशन भारत को बचाना है।‘

यह भी पढ़ें: VIDEO: सीएए विरोधी रैली में ओवैसी के मंच से लगा पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा, मचा बवाल

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस