Move to Jagran APP

बाढ़-बारिश के अब ओडिशा में डेंगू ने बढ़ाई टेंशन, 200 से ज्यादा मामले आए सामने; इस जिले में सबसे ज्यादा मिले केस

Odisha Dengue News ओडिशा में धीरे-धीरे डेंगू का प्रकोप बढ़ता जा रहा है और इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग भी अलर्ट हो गया है। राज्य के सभी जिलों में से खुर्दा जिले में डेंगू के मामलों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। राज्य की स्वास्थ्य सचिव शालिनी पंडित ने इस संबंध में सभी जिलों के कलेक्टरों और नगर निगम आयुक्तों को पत्र जारी कर कई निर्देश दिए हैं।

By Sheshnath Rai Edited By: Shoyeb Ahmed Tue, 09 Jul 2024 04:35 PM (IST)
बाढ़-बारिश के अब ओडिशा में डेंगू ने बढ़ाई टेंशन, 200 से ज्यादा मामले आए सामने; इस जिले में सबसे ज्यादा मिले केस
ओडिशा में लगातार सामने आ रहे डेंगू के मामले (सांकेतिक तस्वीर)

जागरण संवाददाता, भुवनेश्वर। Odisha Dengue Cases प्रदेश में बाढ़-बारिश के बाद अब डेंगू के मामले धीरे-धीरे सामने आने लगे हैं। राज्य के अन्य जिलों की तुलना में खुर्दा जिले में मामलों की संख्या बढ़ रही है। पिछले वर्षों में हुए डेंगू के प्रकोप को देखते हुए राज्य का स्वास्थ्य विभाग हाई अलर्ट पर है।

ऐसे में पिछले पांच वर्षों में जो क्षेत्र डेंगू के लिए हाटस्पॉट थे, उनकी निगरानी और पहचान करने के स्वास्थ्य विभाग ने आदेश दिए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने कहा है कि ऐसे जगहों का अभी से सर्वेक्षण शुरू कर दिया जाए।

स्वास्थ्य सचिव ने दिए ये निर्देश

राज्य की स्वास्थ्य सचिव शालिनी पंडित ने इस संबंध में सभी जिला कलेक्टरों और नगर निगम आयुक्तों को पत्र लिखा है। स्वास्थ्य सचिव ने कहा है कि डेंगू और मलेरिया संक्रमण मानसून और उसके बाद के दौरान देखा जाता है। ऐसे में आपको पहले से सावधान रहना होगा।

इसे ध्यान में रखते हुए, आवश्यक संख्या में स्वयंसेवकों, डायग्नोस्टिक किट, दवाओं का स्टाक करने के लिए भी उन्होंने निर्देश दिया है। जिला-नगरपालिका स्तर पर सभी हितधारकों की बैठक आयोजित करने के लिए संयुक्त कार्ययोजना तैयार को स्वास्थ्य सचिव ने कहा है।

जनता को जागरूक करने के अलावा, कीट नियंत्रण कार्यक्रमों, परीक्षण, उपचार और समय पर रेफरल के लिए अन्य सहयोगी विभागों के साथ समन्वय को महत्व देने पर उन्होंने बल दिया है।

डेंगू से निपटने के लिए की गईं ये तैयारी

स्वास्थ्य सचिव ने कहा है कि संक्रमण की स्थिति से निपटने के लिए जिला और ब्लॉक आरआरटी की टीमें स्टैंडबाय पर रहेंगी। डेंगू-मलेरिया संक्रमण को रोकने के लिए इसके स्रोत को नष्ट करने के साथ ही रक्त बैंक में रक्त संग्रहित रखने को कहा है।

जिलों को निर्देश दिया गया है कि वे विशेष रूप से अस्पतालों में डेंगू वॉर्ड खोलें और उन्हें मच्छरों के खतरे से सुरक्षित रखने तथा साप्ताहिक डाय डे पालन करें।

कितने सामने आए मरीज

जानकारी के मुताबिक राज्य में अब तक डेंगू के 200 से अधिक मरीजों की पहचान की जा चुकी है। वहीं, खुर्दा जिले में संक्रमितों की संख्या तीन अंकों में पहुंच गई है। जिले में 50 फीसदी मरीज अकेले भुवनेश्वर में मिले हैं।

ये भी पढे़ं-

Odisha News: ओडिशा में नाबालिग से दुष्कर्म, अदालत ने आरोपित को सुनाई 20 साल जेल की सजा

Odisha में रथ यात्रा के दिन दिखा लुटेरों का आतंक! बुजुर्ग महिला के गले से लूटी सोने की चेन, ऐसे दिया वारदात को अंजाम