Move to Jagran APP

ओडिशा को कम नहीं आंकती भाजपा: प्रदेश में आज पार्टी की चिंतन बैठक, वंदे भारत से पहुंचे तमाम दिग्‍गज

ओडिशा के राउरकेला में आज भाजपा की चिंतन बैठक है जिस सिलसिले में आज राष्ट्रीय व राज्य स्तरीय पार्टी के तमाम नेता यहां पहुंचे हुए हैं। 50 से अधिक भाजपा के नेता व संगठन प्रभारी वंदे भारत ट्रेन के जरिए राउरकेला पहुंचे। इस चिंतन शिविर को लेकर राजनीतिक विशेषज्ञों का मानना है कि भाजपा के लिए ओडिशा सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है।

By Kamal Kumar Biswas Edited By: Arijita Sen Published: Fri, 05 Jan 2024 12:49 PM (IST)Updated: Fri, 05 Jan 2024 12:49 PM (IST)
भाजपा की चिंतन बैठक आज, पहुंचे राष्ट्रीय व राज्य स्तरीय नेता।

जासं, राउरकेला। भारतीय जनता पार्टी का चिंतन शिविर 5 जनवरी को नगर के होटल मेफेयर में होने जा रहा है। इस शिविर में भाग लेने के लिए गुरुवार को दोपहर 50 से अधिक भाजपा के नेता व संगठन प्रभारी वंदे भारत ट्रेन के जरिए भुवनेश्वर से राउरकेला पहुंचे।

loksabha election banner

ये सभी नेता पहुंचे भुवनेश्वर से राउरकेला

इनमें भाजपा के राष्ट्रीय संगठन मंत्री बीएल संतोष, संजय बंसल,, प्रदेश अध्यक्ष मनमोहन सामल, भुवनेश्वर की सांसद अपराजिता षाड़ंगी, उपाध्यक्ष लेखाश्री सामंतसिंघर, मानस महांती, समीर महांती आदि शामिल हैं। राउरकेला पहुंचने पर स्टेशन पर भाजपा के स्थानीय नेताओं ने इन सभी का गर्मजोशी के साथ स्वागत किया।

इस दौरान पानपोष सांगठनिक जिला अध्यक्ष लतिका पटनायक, निहार राय, बीरेन सेनापति, पूर्णिमा केरकेटटा, केदार प्रियदर्शनी, सुजीत चौधरी, गौतम भगत, संतोष सिंह, जगबंधु बेहेरा, गौतम साहू, केदार महंती, शशांक जेना, बिंदर सिंह, फिरोज राय आदि शामिल थे।

भाजपा के लिए ओडिशा सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक

इस चिंतन शिविर को लेकर राजनीतिक विशेषज्ञों का मानना है कि भाजपा के लिए ओडिशा सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है। राउरकेला में कुछ दिनों से बेहद धीमी लेकिन कुछ राजनीतिक घटनाएं देखने को मिल रही हैं।

कभी यूपी के प्रभारी और अब ओडिशा के प्रभारी रहे मास्टर रणनीतिकार संजय बंसल की मौजूदगी इस चर्चा को और बल देती है कि भाजपा इस बार ओडिशा को लेकर काफी गंभीर है।

इस बीच, पार्टी का मूल संगठन आरएसएस का राउरकेला में पांच दिवसीय चिंतन शिविर चल रहा है। संघ के प्रमुख मोहन भागवत पिछले चार दिनों से शहर में हैं।

पार्टी की यह चिंतन बैठक पहले शहर से 65 किमी दूर लहुणीपाड़ा प्रखंड के खंडाधार में होनी थी। लेकिन विशेष कारणों से इसे राउरकेला स्थानांतरित कर दिया गया है।

य‍ह भी पढ़ें: ओडिशा की सात वस्तुओं को मिला जीआई टैग, बैंगन से लेकर खजूर गुड़ तक हैं शामिल; इस लिस्‍ट में अब तक जुड़ चुकी हैं 25 चीजें

यह भी पढ़ें: ऑनलाइन बिरयानी का आर्डर देकर साइबर ठगी का शिकार हुआ शख्‍स, अकाउंट से गायब हुए डेढ़ लाख; पैसे से अपराधियों ने मजे में की शॉपिंग


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.