वाशिंगटन, प्रेट्र। वर्ष 2017 में भारत दुनिया के शीर्ष आठ महा शक्तिशाली देशों की सूची में छठे नंबर पर रहेगा। अमेरिका की एक शीर्ष फॉरेन पॉलिसी मैगजीन ने यह भविष्यवाणी की है। उसके अनुसार, इस सूची में चीन और जापान भारत से आगे, जबकि अमेरिका शीर्ष पर रहेगा।

सूची में चीन और जापान संयुक्त रूप से दूसरे नंबर पर रखे गए हैं। रैंकिंग में भारत से आगे जो अन्य देश हैं, उनमें रूस चौथे और जर्मनी पांचवें स्थान पर है। महा शक्तिशाली देशों की सूची में ईरान की सातवीं और इजरायल की आठवीं रैंकिंग है।

आठ महाशक्तियों के बारे में जारी ताजा सालाना रिपोर्ट में मैगजीन 'द अमेरिकन इंटरेस्ट' ने कहा है, 'जापान की तरह, दुनिया की महाशक्तियों की सूची में अक्सर भारत को नजरअंदाज किया जाता रहा है। हालांकि वास्तविकता यह है कि उसका विश्व स्तर पर असाधारण दखल है।' इसमें कहा गया है कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। विश्व में दूसरे नंबर पर सबसे ज्यादा अंग्रेजी बोलने वाली आबादी भारत में है। वह एक विविध और तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है।

इसमें कहा गया है, 'भू-राजनीतिक मोर्चे पर, बहुत से देश भारत को अपने पाले में करना चाहते हैं। चीन, जापान और अमेरिका अपनी पसंदीदा एशियाई सुरक्षा संरचना में भारत को सम्मिलित करना चाहते हैं। वहीं, यूरोपीय संघ (ईयू) और रूस लाभकारी व्यापार और रक्षा करारों के लिए भारत को आमंत्रित करते हैं।' मैगजीन के अनुसार, नोटबंदी के बाद पैदा आंतरिक समस्याओं और पाकिस्तान की हरकतों के बावजूद भारत 2016 में खुद को ऊंचे स्तर पर रखने में सफल रहा।

यह भी पढ़ेंः गणतंत्र दिवस में विघ्न डालने के लिए असम और मणिपुर में धमाके

Posted By: Gunateet Ojha