बगदाद (रायटर)। इस्लामिक स्टेट (आइएस) आतंकियों के आत्मघाती हमलों में कम से कम 74 लोग मारे गए। ये हमले गुरुवार को दक्षिणी इराक में हुए।

नसीरिया के स्वास्थ्य निदेशक जासिम अल-खालिदी ने कहा कि शहर के अस्पताल में 50 शव आए। कुछ घायलों की गंभीर हालत देखते हुए मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है। अस्पताल सूत्रों ने कहा कि मारे गए लोगों में 10 ईरानी शामिल हैं। ये लोग शिया तीर्थस्थल की यात्रा पर थे।

पश्चिमी नसीरिया के एक रेस्टोरेंट पर सबसे खतरनाक हमला हुआ। हमलावर ने रेस्टोरेंट के सबसे भीड़ वाले इलाके में खुद को उड़ा लिया। हथियारबंद गिरोह के सदस्य लोगों पर बम फेंकने लगे और गोलियां चालानी शुरू कर दी। पुलिस ने कहा कि चेकपोस्ट पर हुए हमले में कुछ पुलिसकर्मी मारे गए। लेकिन यहां हताहत हुए लोगों की संख्या की पुष्टि नहीं हो पाई है।

 छापामार हमले कर रहा है आइएस

 इराकी और कुर्दिश सुरक्षा अधिकारियों ने कहा कि मोसुल में अपनी खलीफा सल्तनत के ढह जाने के बाद सुन्नी आतंकी संगठन ने छापामार लड़ाई का तरीका अपना लिया है। सीरिया के राक्का में भी आइएस पर घेराबंदी की जा चुकी है। यही शहर मध्य पूर्व और पश्चिम पर हमले का संचालन अड्डा रहा है।

 वापसी का संकेत है हमला

 सुरक्षा अधिकारियों ने गुरुवार के हमले को आइएस समर्थकों को संदेश देने वाला करार दिया है। इस हमले से आइएस ने समर्थकों को संदेश दिया है कि यह समूह अभी भी मजबूत है और जमीन खोने के बाद भी इराक के अन्य हिस्सों में वह संचालित हो सकता है।

यह भी पढ़ें: रोहिंग्या मुसलमान को आइएसआइ, प.बंगाल व झारखंड में घुसपैठ कराने की रच रही है साजिश

यह भी पढ़ें: विदेशी आइएस आतंकियों के कई परिवार इराक के कब्जे में

Posted By: Kishor Joshi